Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

अतिथि शिक्षक आज सौंपेंगे ज्ञापन

0 22


मण्डला।सरकारी स्कूलों में अत्यंत कम मानदेय पर वर्षों से पढ़ाते चले आने के बाद भी शोषण की मार झेलने वाले अतिथि शिक्षक सोमवार 9 अगस्त को कलेक्ट्रेट पहुंचकर ज्ञापन सौंपेंगे।
जिलाध्यक्ष पी.डी.खैरवार ने बताया है,कि मुख्य मुद्दा नियमितीकरण को लेकर 7 अगस्त को मुख्यालय शांति सद्भावना मंच में हुई बैठक में निर्णय लिये गये हैं।जिनको लेकर मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के नाम कलेक्टर महोदय के कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन सौंपे जायेंगे।
7 अगस्त को फिर एक अतिथि शिक्षक की आत्म हत्या के लिए सरकार का निंदा प्रस्ताव सरकार की गलत नीतियों के चलते अतिथि शिक्षकों का नियमितीकरण नहीं किया जा रहा है।जिसके कारण 7 अगस्त को राजगढ़ जिले के अंतर्गत ब्यावरा तहसील के मऊ ग्राम में रहने वाले अतिथि शिक्षक जगदीश प्रसाद शर्मा ने फांसी का फंदा डालकर आत्म हत्या कर लिया।इस तरह अब तक 55 अतिथि शिक्षक साथियों ने सरकार से शोषण सहन नहीं कर पाने के कारण मौत को गले लगा चुके हैं।जिसके लिए पूरी तरह जिम्मेदार मध्यप्रदेश सरकार ही है।जिसको लेकर प्रधानमंत्री जी के नाम प्रदेश सरकार के खिलाफ निंदा प्रस्ताव सहित ज्ञापन सौंपा जायेगा।
नियमितीकरण की मांग पर आक्रोश तमाम कोशिशों,चार चार महीने तक जन सत्याग्रह पर बैठे रहने के बाद भी वर्षों से लंबित नियमितीकरण की मांगों की ओर सरकार ध्यान नहीं दे रही है,जिसका आक्रोष आग की तरह बढ़ता जा रहा है। नियमितीकरण के तत्काल आदेश करने ज्ञापन सौंपा जायेगा।
नई शिक्षा नीति की आड़ में संभावित निजीकरण का करेंगे विरोध सरकार सरकारी स्कूलों को पूंजीपतियों के हाथों बेचने की पूरी तैयारी कर चुकी है।हाल ही में केंद्र सरकार के कैबिनेट ने पास भी कर लागू करने का पूरा इंतजाम कर लिया है।जिसके लागू हो जाने के बाद सरकारी स्कूलों पर सार्वजनिक हस्तक्षेप नहीं के बराबर हो जायेगा। गरीब और मध्यम वर्ग के लिए शिक्षा मंहगी और दुर्लभ होती जायेगी।जिसका विरोध करने भी के़द्र सरकार के नाम ज्ञापन सौंपा जायेगा।
उपचुनाव में अपना वोटबैंक सुरक्षित रखेंगे अतिथि शिक्षक
मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा जायेगा।जिसमें अल्टीमेटम दिया जायेगा कि अतिथि शिक्षक अब किसी का पक्ष या सपोर्ट नहीं करेंगे।
आगामी समय में जिन 27 सीटों पर उपचुनाव होना है।उनमें अतिथि शिक्षक अपना और अपने शुभचिंतकों का वोटबैंक सुरक्षित रखकर सरकार को अपनी एकजुटता का परिचय देंगे।क्योंकि सरकार अतिथि शिक्षकों को कमजोर समझकर शोषण करना बंद नहीं कर रही है।
ज्ञापन प्रदर्शन में सभी अतिथि शिक्षकों को सुविधा अनुसार दोपहर 12 बजे कलेक्ट्रेट पहुंचकर सामिल होने की अपील की गई है।यह भी आग्रह किया गया है कि मास्क, सेनेटाइजर का न उपयोग आवश्यक समझते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना भी जरूरी समझेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.