Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

आखिर कैसे दूर होगी पुलिस बल की कमी

0 3

जनसंख्या के हिसाब से तैनात नहीं पुलिस बल, सरकार को ध्यान नहीं


मण्डला।
प्रदेश के मण्डला जिले में पुलिस बल की कमी बनी हुई है। यहां पर 1172 नागरिकों की सुरक्षा की जिम्मेदारी सिर्फ एक पुलिस जवान पर है। मण्डला जिले की जनसंख्या दिनोंदिन बढती जा रही है। इसके अनुपात में पुलिस बल स्वीकृत कर संख्या नहीं बढ़ाई जा रही है। सूत्रों की मानें तो पहले से स्वीकृत पदों की पूर्ति भी नहीं की जा रही है। जिले में पुलिस बल की स्थिति इस प्रकार है – पुलिस अधीक्षक-01, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक-01, उप पुलिस अधीक्षक 08, रक्षित निरीक्षक 01, निरीक्षक 16, सूबेदार 04, उपनिरीक्षक 62, सहा. उपनिरीक्षक 73, प्रधान आरक्षक 146, आरक्षक 589 कुल 900 इतना पुलिस बल मण्डला जिले में है जबकि इससे ज्यादा पुलिस बल की आवश्यकता होने के बाद भी शासन प्रशासन द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जानकारों की मानें तो प्रतिलाख जनसंख्या में 230 पुलिस बल जवान तैनात होना चाहिए। 2011 की जनगणना के अनुसार मण्डला में 1054906 जनसंख्या है। जिनकी सुरक्षा के लिए पुलिस कप्तान से लेकर आरक्षक तक मात्र 900 पदस्थ हैं वैसे तो आम जनता की ज्यादा जवाबदारी आरक्षक पर ही रहती है और मात्र 589 आरक्षक पदस्थ हैं। मण्डला जिले में 15 थाना और 6 पुलिस चौकी तो संचालित हैं पर इनमें पुलिस बल की कमी बनी हुई है। जानकारों की माने तो पुलिस बल की कमी से नागरिकों के साथ-साथ कई तरह के कार्य प्रभावित हो रहे हैं जनापेक्षा है सरकार इस महत्वपूर्ण विषय पर गंभीरता से कार्य करे और पुलिस बल की कमी दूर करे। इसके अलावा पुलिस बलों के लिए पर्याप्त रहवासी सुविधाएं प्रदान की जाए। इनके आवास दुरूस्त किये जाएं। देखा यह जा रहा है कि जर्जर आवासों मे पुलिस बल अपने परिवारों के साथ रह रहे हैं। सरकार विशेष ध्यान दे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.