Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

आज फिर हारा कोरोना

0 5

अनूपपुर विकास ताम्रकार।

12 व्यक्ति कोरोना को हरा, तालियों की गूँज के बीच घर के लिए विदा हुए

स्वास्थ्य दल के समर्पण एवं कोरोना संक्रमितों की इच्छाशक्ति के सामने नही टिक सका कोरोना

संकट अभी टला नहीं है, सावधानी ही सर्वश्रेष्ठ बचाव

आज कोविड केयर सेंटर अनूपपुर से 12 कोरोना संक्रमित मरीज़ स्वस्थ होकर अपने घरों के लिए रवाना हुए। कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर, एसडीएम कमलेश पुरी, एसडीएम पुष्पराजगढ़ विजय डहेरिया, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बी॰डी॰ सोनवानी, सिविल सर्जन डॉ एस॰सी॰राय, नोडल अधिकारी डॉ एसआरपी द्विवेदी, डॉ आर॰पी॰ श्रीवास्तव सहित स्वास्थ्य एवं प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा तालियों की गूँज के बीच सभी संक्रमितों को शुभकामनाओं के साथ रवाना किया गया। इस प्रकार अब स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए व्यक्तियों की संख्या बढ़कर 17 हो गयी है। वर्तमान में ज़िले में मात्र 7 ऐक्टिव कोरोना प्रकरण हैं।

सिविल सर्जन डॉ एस॰सी॰ राय ने बताया कि सभी डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों को स्वास्थ्य विभाग के दिशानिर्देश अनुसार अगले एक सप्ताह होम क्वॉरंटीन में रहने के निर्देश दिए गए हैं। आपने बताया कि शेष 7 कोरोना पॉज़िटिव व्यक्तियों (6 पुरूष, 1 महिला) का स्वास्थ्य स्थिर है, उनमें कोई भी लक्षण नही है। शीघ्र ही वे सब भी कोरोना को हराने में कामयाब होंगे।

कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने सभी कोरोना विजेताओं को शुभकामनाएँ दी हैं एवं सभी को स्वास्थ्य दल द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करने के लिए कहा है। इस दौरान आप वर्तमान में इलाजरत मरीज़ों से भी मिले एवं उनका उत्साहवर्धन किया। आपने कहा जहाँ एक ओर लगातार मरीज़ों द्वारा कोरोना से विजय प्राप्त करना अच्छा संकेत हैं वहीं आपने सभी नागरिकों को आगाह किया है कि ख़तरा अभी टला नहीं है, नागरिकों द्वारा समस्त उपायों का अनुपालन सुरक्षित रहने के लिए अनिवार्य है। आपने कहा ज़िले में नियमित रूप से सक्रिय निगरानी की जा रही है, ताकि किसी भी सम्भावित/ संदिग्ध संक्रमित की प्रारम्भिक स्तर में ही पहचान कर, उन्हें उपयुक्त इलाज उपलब्ध कराया जा सके एवं संक्रमण फैलने के ख़तरे को ख़त्म किया जा सके।

वहीं डिस्चार्ज किए हुए सभी संक्रमितों ने स्वास्थ्य दल द्वारा प्रदान की गयी सेवाओं के लिए आभार व्यक्त किया। सभी का कहना था कि स्वास्थ्य दल द्वारा उनकी समस्त ज़रूरतों का ध्यान रखने के साथ-साथ मनोबल बढ़ाने का काम भी किया गया। सभी ने स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा प्रदान किए गए दिशानिर्देशों के शब्दशः अनुपालन करने की बात कही।

Leave A Reply

Your email address will not be published.