Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

आदिवासी संस्कृति से जुड़े लोगों का समागम है आदिवासी महोत्सव-फग्गन सिंह कुलस्ते

0 9

केंद्रीय मंत्री कुलस्ते ने आदिवासी महोत्सव की तैयारियों का लिया जायजा
.रामनगर में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक कर दिये आवश्यक निर्देश

मण्डला। 15-16 जनवरी को आयोजित होने वाले आदिवासी महोत्सव के शुभारंभ अवसर पर महामहिम उपराष्ट्रपति एम वैंकैया नायडू के रामनगर प्रवास कार्यक्रम की तैयारियोंं का जायजा लेने केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते रामनगर पहुंचे। उन्होंने जिले के प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मोती महल के समीप बैठक कर तैयारियों की जानकारी ली एवं आवश्यक निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि आदिवासी महोत्सव, आदिवासी संस्कृति से जुड़े लोगों का समागम है। मण्डला की समृद्ध आदिवासी सांस्कृतिक विरासत एवं इतिहास से देश, दुनिया को परिचित कराने के उद्देश्य से रामनगर में आदिवासी महात्सव का आयोजन होता रहा है। रामनगर में गोंडवाना साम्रज्य का पुरातन समृद्ध इतिहास रहा है जिसे पूर्व में कभी उचित सम्मान नहीं मिला, समाज का प्रतिनिधि एवं सेवक होने के नाते मैंने प्रारंभिक तौर पर रामनगर में कार्य प्रारंभ किया। मण्डला के इतिहास को दुनिया जाने इस उद्देश्य से महोत्सव का आयोजन किया जाता रहा है। मुझे पूर्ण विश्वास है कि सभी के सहयोग से आदिवासी महोत्सव का उपराष्ट्रपति एम वैंकैया नायडू के द्वारा भव्य शुभारंभ होगा। साथ ही प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, केंद्रीय जनजाति कार्यविभाग मंत्री अर्जुन मुण्डा, केंद्रीय सांस्कृतिक मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल, प्रदेश के जनजाति कार्यविभाग मंत्री ओमकार मरकाम सहित देश एवं प्रदेश के विभिन्न जनप्रतिनिधियों को कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया है। दो दिवसीय कार्यक्रम के दौरान देश एवं प्रदेश के विभिन्न जनप्रतिनिधि उपस्थित होकर हमारी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत से परिचित होंगे और हम अपने क्षेत्र के विकास के लिए उनका क्या सहयोग ले सकते हैं इस विषय पर चर्चा भी की जायेगी। इस अवसर पर जिले के  प्रशासनिक अधिकारियो से भी सुझाव मांगे बैठक में जिले के अधिकारी गण उपस्थित थे

Leave A Reply

Your email address will not be published.