Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

आयएएस अफसर ने पर्यावरण विभाग के प्रधान सचिव के पद पर विराजमान हो चुकी है

0 22

रिपोर्ट : के .रवि ( दादा ) ,

महाराष्ट्र। राज्य की मशहूर आयएएस अफसर मनीषा म्हैसकर ने पर्यावरण विभाग की प्रधान सचिव के पद पर विराजमान ही चुकी है ।श्रीमती मनीषा म्हैसकर 1992 में भारतीय प्रशासनिक सेवा में शामिल हुईं . तब से उन्होंने राज्य में विभिन्न विभागों में काम किया है बखूबी सराहनीय काम किया है . राज्य पर्यावरण विभाग विभिन्न योजनाओं और पहलों के माध्यम से बदलती जलवायु और पर्यावरण को संबोधित करने के लिए काम कर रहा है . उन्होंने कहा कि सरकारी उपायों, पर्यावरण कानून, जन जागरूकता और पर्यावरण संरक्षण में सार्वजनिक भागीदारी के लिए पर्यावरण विभाग के काम को गति देने पर जोर दिया जाएगा। श्रीमती मनीषा म्हैसकर ने सरकार के विभिन्न विभागों में काम करते हुए, पहले सूचना और जनसंपर्क महानिदेशालय के महानिदेशक के रूप में नवीन योजनाओं के माध्यम से सरकारी कार्यों के प्रचार को एक अलग दिशा दी थी . विशेष रूप से, राज्य सरकार की लोकराज्य पत्रिका के पाठकों की संख्या और लाखों प्रतियों के वितरण में उनका महत्वपूर्ण योगदान था . प्रधान सचिव, शहरी विकास के रूप में अपने पांच वर्षों के दौरान, उन्होंने केंद्रीय स्तर पर राज्य को सबसे आगे लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई . उन्हें पहले मुंबई शहर में कोविद 19 रोगियों की बढ़ती संख्या को नियंत्रित करने के लिए टास्क फोर्स में नियुक्त किया गया था, जो कि मुंबई नगर निगम में साढ़े चार साल तक अतिरिक्त आयुक्त के रूप में स्वास्थ्य क्षेत्र में काम करने के अपने अनुभव के आधार पर थे .
अपने नाम के अनुसार अभिलाषा , बुद्धि , ज्ञान को मनीषा म्हैसकर ने अपने अब तक के कार्यकाल में अक्सर राज्य और समाज के हित को तवज्जू दु है . वैसे भी कोरोना के चलते दुनिया के साथ साथ देश की तालाबंदी में सभी रुकावटों के चलते कुदरतन पर्यावरण में खूबसूरती नजर आ रही है , पर अब जब तालाबंदी कई इलाकों से उठ चुकी हैं ,तब शायद फिर से पर्यावरण को संभालना जरूरी है , जिसे मनीषा म्हैसकर बरकरार रखेगी .

Leave A Reply

Your email address will not be published.