Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

ऑटोमोबाइल हब के रूप में विकसित होगी संस्कारधानी

0 26


जबलपुर। संभावनाएं जब राजनीतिक इच्छाशक्ति के संग उड़ान भरती हैं। तो हकीकत का रूप लेकर जमीन पर उतरती हैं और वास्तविकता को बदल कर रख देती हैं।
जबलपुर में रक्षा मंत्रालय के अनुकूल माहौल होने के साथ सभी आवश्यक संसाधन मौजूद है इसीलिए इसे ऑटोमोबाइल हब के रूप में विकसित किया जा सकता है इस मांग के साथ साँसद श्री राकेश सिंह ने केंद्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह से दिल्ली में भेंट कर मांग पत्र सौंपा।

साँसद श्री राकेश सिंह ने केंद्रीय मंत्री श्री राजनाथ सिंह को बताया कि जबलपुर मध्यभारत के प्रमुख शहर है साथ ही यहाँ रक्षा उत्पादन की बड़ी इकाइयां जिनमे व्हीकल फैक्ट्री, गन कैरिज फैक्ट्री, आयुध निर्माणी, सेंट्रल ऑर्डनेंस डिपो है। इसके साथ ही थल सेना के तीन बड़े रेजिमेन्ट जिनमे सिग्नल्स ग्रेनेडियर्स एवँ जम्मू कश्मीर राइफल्स का ट्रेंनिग सेंटर एवँ मुख्यालय भी जबलपुर में है सेना के जीओसी के अंतर्गत आने वाली मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, ओड़िसा एवँ बिहार का मुख्यालय भी जबलपुर में है।

साँसद श्री सिंह ने बताया कि उल्लेखनीय है कि रक्षा मंत्रालय के अधीनस्थ व्हीकल फैक्ट्री जबलपुर की स्थापना वर्ष 1969 में की गई और तब से अब तक इस संस्थान ने कई बड़े कीर्तिमान स्थापित किये है। व्हीकल फैक्ट्री देश की एकमात्र बड़ी संस्था है जो भारतीय सेना के साथ ही अर्धसैनिक बलों एवँ राज्यो के आर्म्ड फोर्स को उनके उपयोग में आने वाली वाहनों का उत्पादन करती है। व्हीकल फैक्ट्री जबलपुर द्वारा निरंतर भारतीय सेना के मांगो और उनके उपयोगों के आधार पर अत्याधुनिक वाहन दिया जा रहा है।

श्री सिंह ने बताया कि विगत 9 अक्टूबर 2014 को प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित इन्वेस्टर्स मीट के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भी अपने उद्बोधन में जबलपुर को डिफेंस क्लस्टर एवँ मैन्युफैक्चरिंग हब बनाये जाने की दिशा में अपनी स्वीकृति दे चुके है इसके साथ ही विगत दिनों केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री श्री नितिन गड्करी ने भी जबलपुर में ऑटोमोबाइल हब बनाने को लेकर एक समाचार पत्र से विस्तृत चर्चा की थी।

साँसद सिंह ने बताया कि जबलपुर कनेक्टिविटी के मामले में भी अन्य शहरों की अपेक्षा बेहतर स्थिति में है यहाँ से देश के लगभग सभी प्रमुख शहरों के लिए सीधी रेल सेवा और मुम्बई, दिल्ली, कोलकाता, हैदराबाद, अहमदाबाद जैसे महत्त्वपूर्ण शहरों के लिए नियमित वायु सेवा के साथ ही जबलपुर से निकलने वाली तीनो महत्वपूर्ण राष्ट्रीय राजमार्ग का फोर लेनिंग का कार्य पूरा हो चुका है साथ ही भारतीय रेल द्वारा ईस्टर्न-वेस्टर्न फ्रेट कॉरिडोर में संभावित रूप से जबलपुर को शामिल किए जाने का प्रस्ताव भी है।

साँसद श्री सिंह ने कहा वर्तमान में जबलपुर ऑटोमोबाइल हब बनने अनुकूल माहौल है और यदि यहां ऑटोमोबाइल हब बनाया जाता है तो जहां भारत सरकार के द्वारा प्रस्तावित रक्षा उत्पादन इकाइयों के निगमीकरण की प्रक्रिया को मजबूती मिलेगी वही निकट भविष्य में यह हब युवाओं और कुशल कामगारों के लिए रोजगार के बड़े केंद्र के रूप में विकसित होगा।

साँसद श्री सिंह ने केंद्रीय मंत्री श्री राजनाथ सिंह से कहा कि मुझे विश्वास है कि जबलपुर को ऑटोमोबाइल हब बनाने की इस मांग पर आप विचार करेंगे और इसके प्रस्ताव को स्वीकृति दिलाने के साथ ही जबलपुर और महाकौशल की जनता को सौगात देंगे।

केंद्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने साँसद श्री सिंह की मांग पर विचार कर उचित निर्णय लेने के लिए कहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.