Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

जिले में बढ़ रही अवैध गैस सिलेंडर की सप्लाई

0 30

डिंडोरी, नंद किशोर ठाकुर। जनपद के कूंड़ा गांव में सिलेंडर गैस फटने से आगजनी की हो चुकी है घटना डिंडोरी जनपद अंतर्गत ग्राम पंचायत कूंड़ा गांव में पिछले दिनों गैस सिलेंडर लीक होने से आगजनी की घटना होना सामने आई है। कूंड़ा गांव निवासी द्वारका ने बताया गया कि उसने अनूपपुर जिले के करपा से आए गैस सिलेंडर बेचने वालों से पीड़ित ने ऊंची कीमत पर सिलेंडर गैस खरिदा था,रेगुलेटर से गैस चालू करने के बाद गैस लीक होने लगी और पूरे कमरे में आग फैल गई। चीख-पुकार मचने के बाद स्थानीय ग्रामीण घटना स्थल पर जमा हो गए, कड़ी मशक्कत के बाद गैस सिलेंडर से आग बुझ पाई, घटना के दरमियान एक महिला भी घायल हुई है, उक्त महिला का चेहरा झुलस गया है। इसी तरह गांव के ही रामजी गौतम ने बताया कि सिलेंडर गैस से रेगुलेटर चालू करने के बाद सिलेंडर गैस में अचानक आग लग गई,आग की लपटें तेज होता देख स्थानीय ग्रामीणों द्वारा घटना की सूचना हंड्रेड वाहन सहित फायर ब्रिगेड को दी गई, मौके पर पहुंची फायर बिग्रेड वाहन ने आग पर काबू पाना चाहा, लेकिन सिलैंडर गैस की आग नहीं बुझ सकी।ग्रामीणों ने सूझबूझ का परिचय देते हुए सिलेंडर गैस के ऊपर मिट्टी व रेत का ढेर लगा देने के बाद ही आग पर काबू पाया जा सका, जिससे कोई बड़ी जनहानि नहीं हुई। गनीमत रही कि सिलेंडर गैस फटा नही वरना घटना और बड़ी हो सकती थी, क्योंकि गांव में घनी आबादी की बसाहट है, अधिकतर घर पास पास ही बने हैं,जिससे ज्यादा क्षति होने की आंशका बनी थी।

अनूपपुर के करपा से हो रही है अवैध सप्लाई

गौरतलब है की कुछ कथित लोगों के द्वारा अनूपपुर जिले के करपा एजेंसी से गैस सिलेंडरों की सप्लाई अवैध रूप से की जा रही है, ग्रामीण अंचलों में जिम्मेदारों द्वारा ऊंची कीमत पर सिलेंडर गैस बेची जाती है। स्थानीय ग्रामीणों की मानें तो लंबे समय से गैस की कालाबाजारी का खेल चल रहा है,लेकिन अभी तक इस ओर कोई ठोस पहल नहीं की गई, जिससे अवैध गैस सिलेंडरों की सप्लाई अभी तक जारी है, जबकि गैस सिलेंडर की सुरक्षा व्यवस्था के कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए जाते, जिस कारण आए दिन घटनाएं होना सामने आ रही है। सूत्रों की माने तो जिले के कई गांव के कुछ कथित लोग गैस की कालाबाजारी करने में सक्रिय हैं,अवैध रूप से घरों में सिलेंडरों को स्टोर कर लेते हैं और जरूरत के हिसाब से आए दिन ग्रामीणों को ऊंची कीमत पर बेचा जाता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.