Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

कलेक्टर ने ली नगरीय निकायों के अध्यक्षों एवं अधिकारियों की बैठक

0 4

मण्डला। कलेक्टर हर्षिका सिंह ने योजना भवन में जिले के सभी नगरीय निकायों के अध्यक्षों एवं नगरपालिका अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में उन्होंने जिले के सभी निकायों में संचालित कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास, स्वच्छ भारत मिशन, शहरी पथ विक्रेता योजना तथा अन्य बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा की। उन्होंने नगरपालिका अधिकारियों से प्रधानमंत्री आवास के लक्ष्य तथा उनके विरूद्ध प्राप्त की गई उपलब्धियों के बारे में जानकारी मांगी। उन्होंने लक्ष्य के अनुपात में कम उपलब्धि वाले निकायों के अधिकारियों से जवाब मांगे। श्रीमती सिंह ने सभी सीएमओ नगरपालिका एवं नगरपरिषद को निर्देशित किया कि वे प्रतिदिन अपने क्षेत्र के सिविल कार्यों का दौरा करेंगे तथा रिपोर्ट भेजेंगे। उन्होंने सीएमओ नैनपुर को पीएम आवास के अपूर्ण दस्तावेज और जमीन आवंटन संबंधी प्रकरणों की सूची भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्माण कार्यों के लिए अप्राप्त राशि के बारे में भी सवाल किए।
कलेक्टर ने बैठक में सभी सीएमओ नगरपालिका एवं परिषद से उनके क्षेत्र में संचालित शहरी पथ विक्रेता योजना की प्रगति के बारे में जाना। उन्होंने कहा कि ऋण लेने वाले हितग्राहियों का वेरीफिकेशन भी सुनिश्चित करें। उन्होंने सामाजिक न्याय विभाग से दी जाने वाली विधवा पेंशन, दिव्यांग पेंशन तथा वृद्धावस्था पेंशन प्रकरणों के बारे में विस्तार से जाना। उन्होंने कहा कि पात्र दिव्यांगजन लाभ से वंचित न रहने पाए। उन्होंने दिव्यांगजनों के लिए संचालित योजनाओं एवं लाभान्वित हितग्राहियों के बारे में पूछा। श्रीमती सिंह ने संबल योजना के अंतर्गत सहायता राशि स्वीकृति के लंबित प्रकरणों की समीक्षा की तथा पूर्व में शामिल तथा बाद में हटाए गए व्यक्तियों का पुनः री-वेरीफिकेशन करने के निर्देश दिए।

अगस्त के पहले सप्ताह से शुरू हुआ दिव्यांगजन कंट्रोल रूम

कलेक्टर ने बैठक में जानकारी देते हुए बताया कि जिले के दिव्यांगजनों की समस्याओं को सुनने एवं उनके निराकरण के लिए अगस्त माह के पहले सप्ताह से जिला स्तर पर दिव्यांगजनों के लिए कंट्रोल रूम बनाया जा रहा है। इस कंट्रोल रूम में कोई भी दिव्यांग अपनी समस्या बता सकता है। समस्या प्राप्त होने के पश्चात् संबंधित अधिकारियों एवं विभागों द्वारा यथाशीघ्र इसका निराकरण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि दिव्यांगजनों की समस्याओं के निराकरण के लिए समय-सीमा भी सुनिश्चित की जाएगी। श्रीमती सिंह ने बैठक में दृष्टिबाधित दिव्यांगों के लिए ई-लायब्रेरी शुरू करने से संबंधित जानकारी भी दी। उन्होंने बताया कि ई-लायब्रेरी में ऑनलाईन 4 लाख से अधिकारी किताबें उपलब्ध रहेंगी जिसे दृष्टिबाधित दिव्यांग सुनकर पढ़ाई कर सकते हैं। बैठक में उपस्थित सभी नगरीय निकायों के अध्यक्षों ने अपने-अपने क्षेत्र के समस्याओं को विस्तार से बताया। कलेक्टर ने नगरीय निकायों में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रभावी प्रयास करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों के जनप्रतिनिधि एवं पार्षदगण उनके क्षेत्रों में बाहर से आने वाले व्यक्तियों पर नजर रखें एवं ऐसे व्यक्तियों की तत्काल सूचना प्रशासन को दें। श्रीमती सिंह ने कोरोना की रोकथाम से संबंधित जानकारी को कचरा गाड़ियों एवं लाऊड स्पीकर के माध्यम से लगातार प्रसारित करने के निर्देश दिए। उन्होंने जनप्रतिनिधियों को बताया कि वे सभी अपने क्षेत्र के लोगों से राखी एवं अन्य आगामी त्यौहारों को अपने-अपने घरों में रहकर मनाने और सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने का सहयोग मांगे तथा व्यक्तिगत रूप से भी प्रयास करें। उन्हाेंने बाजार में भीड़ कम करने तथा मॉस्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करने प्रभावी कार्यवाही करने की बात कही। बैठक में नगरपालिका अध्यक्ष पूर्णिमा शुक्ला, उपाध्यक्ष गिरीश चंदानी सहित सभी निकायों के अध्यक्ष एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित

Leave A Reply

Your email address will not be published.