Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

कोरोना संक्रमण को लेकर याचिकाओं की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई पुनः सुनवाई

0 14

जबलपुर। कोरोना की वैश्विक महामारी के चलते पूरे देश में लॉक डाउन है। न्यायालयों में मुकदमों की सुनवाई का कामकाज भी बंद है। कोरोना से जुड़ी याचिकाओं की सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उच्च न्यायालय में की गई। आज दिनांक 29/04/2020 को.माननीय उच्च न्यायाल मे माननीय चीफ जस्टिस अजय मित्तल एंव जस्टिस विजय शुक्ला ने कोरोना जनहित याचिकाऔ पर पुनः सुनवाई की। अधिवक्ता अमित कुमार साहू की याचिका wo no 6804/2020 को फाईल की गई थी। उन्होंने वीडियो काफ्रेंस से कोर्ट मे अपनी बात रखी और अपनी जनहित याचिका मे वीडियो काफ्रेंस से सुनवाई की है। कोर्ट मे फाईल सभी जनहित याचिकाओं पर आज सुनवाई वीडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा की गई है। सभी याचिकाकर्ताओं ने अपनी बात वीडियो काफ्रेंस के जरिए कोर्ट को बताई। आज माननीय न्यायालय ने कहा कि जो एरिया रेड जोन मे है वहां पर लाकडाऊन का पालन कडाई से करना आवश्यक है और वहा पर सख्ती से एरिया सील करने की आवश्यकता है। वहीं दूसरी ओर सरकार को अपना जवाब माननीय न्यायालय के समक्ष पेश कर दिया है। सरकार को पुनः जावेद के मामले में रिपोर्ट के लिऐ कहा एंव इसे गंभीरता से लेने की आवश्यकता है। पुलिस,डाक्टरों और सभी कोरोना वोरियर्स को संक्रमण न हो इस बात का भी ख्याल रखने की जरुरत है। क्योंकि करोना की लडाई मे ऐ सभी लोग आगे है। अगर इन्हें सक्रमण होता है तो पूरी व्यवस्था ही पंगू हो जाएगी। साथ ही माननीय चीफ जस्टिस ने अखबार,मीडिया के माध्यम से पुलिस को सडक़ पर बैठ कर खाना खाते देखा सुना उनके लिऐ सवेंदनाऐ है। ये सभी लोग जो कोरोना की लड़ाई मे अपना योगदान दे रहे है उनके लिए चिंता जाहिर की । साथ ही माननीय चीफ जस्टिस ने कहा की जो एरिया रेड जोन में है हम सभी को प्रयास करना है कि वे एरिया रेड जोन से बाहर होकर कोरोना संक्रमण से मुक्त हो जाऐं। साथ ही सरकार से कहा कि कितने लोग कोरोना संक्रमित हो रहे है उसकी भी रिपोर्ट पेश करे। वह सरकार की ओर से एडवोकेट जनरल पुष्पेंद्र कौरव उपस्थित हुए। वहीं दूसरी ओर कोरोना से सम्बंधित याचिका पूर्व वित्त मंत्री तरूण भनोट ने भी दायर की है। सभी याचिकाकर्ता की सुनवाई के साथ इनकी सुनवाई हुई। तरूण भनोट की ओर से पूर्व एडवोकेट जनरल शशांक शेखर उपस्थित हुए। अपनी याचिका wo no 6804/2020 का पक्ष याचिकाकर्ता अधिवक्ता अमित कुमार साहू ने स्वयं रखा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.