Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

क्या रक्षा मंत्रालय के उत्पादन विभाग के फैसले से फैलेगा असंतोष?

0 14

82000 कर्मचारियों के मन में आश्चर्य और अनिश्चितता।

जबलपुर-पिछले वर्ष रक्षा मंत्रालय के उत्पादन विभाग की कर्मचारी यूनियनों की तीनों फेडरेशनों और सरकार के मध्य चीफ लेबर कमिश्नर की अध्यक्षता में एक समझौता हुआ था। कि एक पक्षीय निर्णय नहीं लिया जाएगा। लेकिन वर्तमान में सरकार ने एक पक्षीय निर्णय लेकर सरकार ने समझौते का उल्लंघन किया है, कर्मचारियों को चौंका दिया है। साथ ही उनके भीतर असंतोष के बीच भी रोपित कर दिए हैं जो आगे चलकर किसी बड़ी हड़ताल के स्वरूप में सामने आ सकते हैं।
ऑल इंडिया डिफेंस एंप्लाइज फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष एसएन पाठक जी ने बताया, रक्षा मंत्रालय के रक्षा उत्पादन विभाग ने ऑडनेंस फैक्ट्रीयों के प्रस्तावित निगमीकरण के लिए सलाहकार की नियुक्ति का रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल, एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट के लिए टेंडर जारी कर दिया गया है। रक्षा उत्पादन विभाग के द्वारा जारी किए गए टेंडर से 82000 कर्मचारी हतप्रभ है इसी तारतम्य में रक्षा मंत्रालय की तीनों फेडरेशनों ने संयुक्त पत्र रक्षा मंत्री को लिखा है। पत्र में तीनों फेडरेशनों ने कहा है कि रक्षा विभाग के इस कदम से कर्मचारियों में गहरा असंतोष फैलेगा। भारत सरकार द्वारा दिनांक 21 अगस्त 2019 को चीफ लेबर कमिश्नर के समक्ष किए गए समझौते का उल्लंघन करते हुए एकपक्षीय निर्णय लेकर सलाहकार की सेवाओं के लिए टेंडर जारी किया गया है। सलाहकार ऑडनेंस फैक्ट्री ओके निगमीकरण की रणनीति, क्रियान्वयन, प्रबंधन सलाह के साथ निर्माणी बोर्ड का मूल्य निर्धारण इत्यादि करेगा । पिछले वर्ष जब तीनों फेडरेशन मिलकर एक साथ 1 महीने की हड़ताल कर रहे थे हड़ताल के दौरान चीफ लेबर कमिश्नर की अध्यक्षता में सरकार तथा तीनों फेडरेशनों के पदाधिकारियों के बीच मध्यस्थता बैठके हुई थी तथा HLOC के गठन के पश्चात हड़ताल स्थगित की गई थी। रक्षा उत्पादन विभाग द्वारा HLOC की एक पक्षीय तरीके से बनाई गई टर्म्स ऑफ रीफरेंस को बदलने के लिए फेडरेशन पदाधिकारियों द्वारा लगातार दबाव बनाया जाता रहा। तत्पश्चात इस पूरी कार्यवाही की सूचना प्रधानमंत्री तथा रक्षा मंत्री को भी दी गई थी साथ ही रक्षा मंत्री तथा प्रधानमंत्री को ऑडनेंस फैक्ट्री को निगमीकरण नहीं किए जाने की अपील भी की गई थी जो कि आज दिनांक तक लंबित हैं । फिर भी रक्षा उत्पादन विभाग द्वारा सलाहकार के लिए टेंडर जारी करना दुर्भाग्य जनक है। सलाहकार का ऑडनेंस फैक्ट्री बोर्ड या फैक्ट्रियों में विजिट करना कर्मचारियों के बीच गहरा असंतोष पैदा कर सकता है । ऑर्डिनेंस फैक्ट्रीयों के प्रस्तावित निगमीकरण के खिलाफ तीनों फेडरेशन संयुक्त रूप से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के लिए तैयार हैं। यूनियनें हड़ताल की तैयारियों में लगी हुई है बहुत ही जल्द हड़ताल की तारीख का फैसला एकमत से लेकर सार्वजनिक कर दिया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.