Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

गंदगी नज़र आई तो कार्यवाही से बच नहीं सकेंगे जिम्मेदार अधिकारी : अनूप कुमार सिंह

0 36

जबलपुर। जलप्लावन की रोकथाम के लिए आज भी नगर निगम आयुक्त अनूप कुमार सिंह ने संभाग क्रमांक 5, 6 एवं 14 के अंतर्गत आने वाले संवेदनशील क्षेत्रों का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के मौके पर उन्होंने बल्देवबाग, चेरीताल, कमल बारात घर, जयप्रकाश नारायण वार्ड, न्यू ग्रीन सिटी, माढ़ोताल बस्ती सहित अनेक क्षेत्रों का दौरा कर जल भराव की स्थिति में स्वास्थ्य विभाग के अमले से जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने देखा कि नाले के ऊपर क्षेत्रीय लोगों ने अवैध रूप से घर बनाकर पानी की निकासी को अवरूद्ध कर दिया है। दमोहनाका क्षेत्रीय बस स्टैण्ड के पास एवं चेरीताल वार्ड के खिन्नी मुहल्ला जहॉं पर नाले के ऊपर अतिक्रमण पाया गया और पर्याप्त साफ सफाई भी नहीं पाई गयी, जिसके कारण संबंधित जोन के प्रभारी मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षकों के एक दिन का वेतन काटने के निर्देश दिये। उन्होंने मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षकों को यह भी निर्देशित किया कि जिन क्षेत्रों में वर्षा के दौरान जल भराव की स्थिति निर्मित होती है, वहॉं पर प्रतिदिन नाला नालियों की सफाई कराई जाये तथा सिल्ट निकलवाई जाये।  निगमायुक्त अनूप कुमार सिंह ने जोन के सहायक स्वास्थ्य अधिकारी, प्रभारी मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक एवं वार्ड सुपरवाईजरों को निर्देशित किया कि नाला नालियों एवं सार्वजनिक स्थलों पर कचरा फैकने वालों के विरूद्ध प्रतिदिन जुर्माना लगाये और जुर्माने की राशि नगर निगम के खजाने में जमा कराएँ। निगमायुक्त ने निरीक्षण के दौरान यह भी पाया कि जगह जगह बड़े नाले के चेम्बर खुले पड़े हैं जहॉं वर्षा के दौरान घटना दुर्घटना घटित होने की संभावना है इसे रोकने के लिए उन्होंने पी.डब्लू.डी. के अधिकारियों को निर्देशित किया कि जोन के संभागीय अधिकारी एवं मुख्य स्वच्छता निरीक्षकों से सूचना प्राप्त कर स्थल का भ्रमण करें और वर्षा के पूर्व सभी खुले चेम्बरों को अनिवार्य रूप से ढकने की व्यवस्था सुनिष्चित करें।
निरीक्षण के बाद निगमायुक्त ने कठौंदा स्थित वेस्ट टू एनर्जी प्लांट जहॉं पर शहर से संकलित होकर कचरा तुलने जाता है उस कांटे का निरीक्षण किया और प्रतिदिन निकलने वाले कचरे की जानकारी ली। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया कि कम्पनी द्वारा वर्ष 2016 से ही रायल्टी फीस नगर निगम में जमा नहीं की जा रही है, जिसपर निगमायुक्त ने निर्देशित किया कि कम्पनी के देयकों से रायल्टी फीस की कटौती कर भुगतान हेतु नस्ती प्रेषित की जाये। निगमायुक्त ने निरीक्षण के अंत में स्वास्थ्य विभाग के सभी सहायक स्वास्थ्य अधिकारियों, प्रभारी मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षकों एवं वार्ड सुपरवाईजरों को हिदायत दी कि शहर में कहीं भी गंदगी दिखाई नहीं देनी चाहिए, यदि गंदगी कहीं दिखाई दी और कहीं पर भी जलभराव हुआ तो आवश्यक रूप से संबंधित अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने डोर टू डोर कचरा संग्रहण प्रणाली को बढ़ाने, सेकेण्डरी कचरा कलेक्षन (डम्पिंग स्टेषन) को कम करने के भी निर्देश दिये। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांटे पर ट्रेक्टर ट्राली, डम्फर आदि वाहनों की तुलाई नहीं होगी डोर टू डोर कम्पनी की वह गाड़ियॉं जो घर घर से कचरा एकत्रिकरण करती है और कम्पेक्टर की तुलाई होगी। इस मौके पर स्वास्थ्य अधिकारी भूपेन्द्र सिंह, भवन शाखा से सहायक यंत्री बाहुवली जैन, संभागीय अधिकारी कुलदीप तिवारी, सहायक स्वास्थ्य अधिकारी आर.पी. गुप्ता, उपयंत्री अभिषेक तिवारी, प्रभारी मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक अतुल रैकवार, कालूराम सोलंकी, रविन्द्र सिंह ठाकुर, आदि उपस्थित रहे।  

Leave A Reply

Your email address will not be published.