Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

ग्राम पंचायत तपा के दलित आदिवासी गरीब परिवारों को घर का मालिकाना हक दिया जाये

0 30

सतना। जिला के रामपुर बाघेलान बिकाश खंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत तपा मे आज पचासों वषोॅ से दलित आदिवासी व अन्य गरीब वर्ग मध्यप्रदेश शासन की जमीन पर घर बनाकर रह रहा है मेहनत मजदूरी करके अपने बच्चों का पालन पोषण कर रहा है लेकिन शासन के अधिकारीयों के द्वारा ग्राम पंचायत तपा के दलित आदिवासियों को नोटिस देकर डराया धमकाया जाता कि आप लोग जमीन घर खाली कर करो यदि जमीन व घर खाली नही करोगे तो तुम लोगो के खिलाफ कानून कार्य बाही करके जेल भेज देगे वही प्रदेश सरकार पिछले कई वर्षों से जो गरीब मध्यप्रदेश शासन की जमीन हो या बन बिभाग की जमीन पर जो दलित आदिवासी घर या मढाईया बना कर रह रहा है उसे प्रदेश सरकार मालिकाना हक पटटा देने का काम किया गया है लेकिन ग्राम पंचायत तपा मे दलित आदिवासी व अन्य गरीब वर्ग मध्यप्रदेश शासन की जमीन पर बनाकर रह रहा है उस गरीब परिवारों को आज तक घर का पटटा नही दिया गया है बल्कि उन गरीब परिवारों को नोटिस दिया गया है कि अपना अपना घर खाली करो सबाल उठता है कि ये गरीब परिवार जाये तो कहा जाये इनका क्या कहना नागेद्र सिह करमऊ जनपद सदस्य व भाजपा नेता रामपुर बाघेलान सतना मप्र वही रामपुर बाघेलान के जनपद सदस्य व भाजपा नेता नागेद्र सिह करमऊ को ग्राम पंचायत तपा की गरीब जनता ने आपना दुख पीडा बताया वही श्री सिह प्रेस जारी बयान मे बताया कि ग्राम पंचायत तपा मे आज पचासों वषोॅ से तपा की डोगरी और तपा के पावरहाउस के बगल से मध्यप्रदेश शासन की जमीन पर तपा के दलित आदिवासी और अन्य गरीब वर्ग के लोग मध्यप्रदेश शासन की जमीन पर घर बनाकर रह रहे है लेकिन आज तक इन परिवार के लोगों को घर का पटटा नही मिला है बल्कि राज्य स्व बिभाग से नोटिस दिया गया है घर खाली करने का वही श्री सिह ने प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जिला के सासंद श्री गणेश सिह व जिला कलेक्टर को को पत्र लिखकर माग कि है कि ग्राम पंचायत तपा के दलित आदिवासी और अन्य गरीब वर्ग के जो लोग मध्यप्रदेश शासन की जमीन पर घर बनाकर रह रहे है उन परिवार बालो को घर का मालिकाना हक पटटा दिया जाये वही नागेद्र सिह करमऊ ने कहा कि गरीबों कि हक की लडाई हम मरने दम तक लडते रहेगे हम गरीबों के आशियाना घर को नही ऊजड़ ने देगे चाहे हमे कुछ करना पड़े।

Leave A Reply

Your email address will not be published.