Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

ग्राम पंचायत में मशीनों से हो रहे विकास कार्य

0 55

मजदूर इनके मशीनो का खेल तमासा देखे…

आला अधिकारियो के कानों में जू तक नहीं रेंगती…

नंद कुमार ठाकुर डिंडोरी।

एक तरफ कोरोना काल मे गरीब मजदूरो को रोजगार उपलब्ध कराने राज्य सरकार ने मनरेगा के तहत पचायतो मे मशीनो से कार्य न कराने की फरमान जारी कर रखा है, लेकिन ये फरमान बेअसर दिखाई पड रहा डिण्डौरी जिले कै समनापुर जनपद के विभिन्न ग्राम पंचायतो धडल्ले मशीनो का उपयोग हो रहा ताजा मामला है झाँखी पंचायत के पोषक ग्राम केवलारी का है यहा तक कि रात के अधेरे मे बे खौप तरीके से खनन कर रहे है जबकि यहा पर राष्टीय मानव कहे जाने वाले बैगा जनजाति के लोग निवासर है जो कि मजदूरी पर ही निर्भर रहते है लेकिन जिम्मेदार इनकी रोजी छीनकर मशीनो का पेट भर रहे है जबकि शासन भी इस वर्ग के लिए विशेष पैकेज आंवटन करता है मामला केवलारी बैगा टोला रोड निर्माण का है इसी रवैये के चलते ये लोग आजिविका के लिए महानगरो कि ओर पलायन करने मजबूर हो जाते मशीन मालिक वा कायदा चालको का सिप्ट बाट दिया है एक दिन मे तो एक रात मे बारी बारी से मशीने चलवाते ताकि सारा काम मशीन से ही हो और मजदूर इनके मशीनो का खेल तमासा देखे बार बार समाचार पत्रो प्रकाशित होने के बाद भी आला अधिकारियो के कानो मे जू तक नही रेगती।

Leave A Reply

Your email address will not be published.