Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

डायरेक्टर फरार, चीफ प्रेसीडेंट 25 तक न्यायिक हिरासत

0 54

केजेएस सीमेंट ने जीएसटी कर के 17 करोड़ रुपए चुराए

सतना । बड़े नाम वालों के अक्सर कारनामे भी बड़े ही होते हैं। इसलिए जब कभी सरकारी व्यवस्था में कसावट आती है तो उनके गलत मंसूबों पर पानी फिर जाता है। सीमेंट उद्योग में एक बड़ा नाम अहलूवालिया ग्रुप का आता है। दुनिया भर की शान और शौकत के चहेते पवन अहलूवालिया जीएसटी टीम का फंदा कसता हुआ देख अंडरग्राउंड हुए और चोर रास्ते से दिल्ली पहुंच गए। जबकि केजेएस सीमेंट मैहर के चीफ प्रेसीडेंट केएस सिंघवी को न्यायालय ने आगामी 25 अगस्त तक पुलिस की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। केजेएस सीमेंट ने तकरीबन 17 करोड़ रुपए कर चोरी को जिम्मेदारी के साथ अंजाम दिया है। सेंट्रल जीएसटी टीम ने मैहर केजेएस सीमेंट और पवन
अहलूवालिया के बांधवगढ़ में बने आशियाने में एक साथ छापा मारा था। सूत्रों ने बताया कि सेंट्रल जीएसटी टीम ने एक साथ कुल 30 जगह छापामारी को अंजाम दिया है इसमें केजेएस सीमेंट मैहर, बांधवगढ़ आवास, दिल्ली, आगरा, इलाहाबाद, कुशीनगर सहित अहलूवालिया ग्रुप से जुड़े तीस जगहों पर एक साथ छापामारी की कार्यवाही को अंजाम दिया है। 17 करोड़ रुपए कर चोरी का मामला उजागर होने के बाद केजेएस सीमेंट के मालिक पवन अहलूवालिया अचानक भूमिगत हो गए और फिर दबे पांव उनके दिल्ली पहुंचने की सूचनाएं बाहर आ रही हैं। इसके पहले भी केजेएस सीमेंट और पवन अहलूवालिया के ठिकानों पर कार्रवाई हो चुकी है।

साढ़े सात करोड़ रुपए का किया नगद कारोबार

केंद्रीय जीएसटी टीम के अधिकारियों ने बताया कि केजेएस सीमेंट मैहर और सतना शहर के बांधवगढ़ में छापामारी के दौरान लगभग 17 करोड़ रुपए के कर चोरी का खुलासा हुआ है। इतना ही नहीं सघन जांच के दौरान साढ़े सात करोड़ रुपए नगद कारोबार के कागजात भी टीम के हाथ लगे हैं। इसके अलावा छापेमारी में 52 लाख रुपए नगद राशि हासिल हुई है। केजेएस सीमेंट के चीफ प्रेसीडेंट केएस सिंघवी को केंद्रीय जीएसटी टीम ने गिरफ्तार करते हुए न्यायालय में पेश किया जहां से उन्हें 25 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। जबकि असली मास्टरमाइंड केजेएस सीमेंट के एमडी पवन अहलूवालिया दबे पांव भागने में कामयाब हो गए हैं। बताया जाता है कि पवन अहलूवालिया अपने को गिरफ्तारी से बचाने के लिए दिल्ली पहुंच गए हैं। सूत्रों ने बताया कि जब केंद्रीय जीएसटी के टीम ने केजेएस सीमेंट फैक्ट्री में दबिश दी तो वहां पर जीएसटी टीम में शामिल अधिकािरयों को धमकाने का प्रयास किया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.