Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

दरबार रेस्टोरेंट के टूटने पर जताया विरोध।

0 3

एनएसयूआई ने दी आंदोलन की चेतावनी।


जबलपुर। यदि दरबार रेस्टोरेंट का निर्माण अवैध था, तो सिर्फ दरबार रेस्टोरेंट के मालिकों का नुकसान क्यों? वहां काम करने वाले कर्मचारियों की रोजी रोटी का नुकसान क्यों? अगर आप में दम है, न्याय करने का और हैसियत है, सच में अवैध कामों पर रोक लगाने की। तो सबसे पहले उन कर्मचारियों को बर्खास्त कीजिए। जिन्होंने दरबार रेस्टोरेंट को बनने दिया और इतने समय तक चलने दिया। यह सवाल हर उस व्यक्ति के मन में कौंध रहे हैं। जो राजनीतिक स्वार्थ से परे हैं और निष्पक्ष और न्याय प्रिय ताकि सोच रखते हैं।
मध्यप्रदेश युवक कांग्रेस भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन राघवेन्द्र तिवारी ( रघु ) प्रदेश सहसचिव आर.जी.पी.व्ही . प्रभारी। रिजवान अली कोटी प्रवक्ता – युवक कांग्रेस , जबलपुर पूर्व राष्ट्रीय मीडिया समन्वयक NSUI। नियम विरूद्ध नगर निगम की कार्यवाही के विरोध में आज जबलपुर भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन एवं युवा काँग्रेस के रघु तिवारी एवं रिजवान अली कोटी ने यह प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए बताया है कि नगर निगम एवं जिला प्रशासन द्वारा दरबार रेस्टारेन्ट को बलपूर्वक तोड़ दिया गय है । परन्तु संचालक के द्वारा पूर्व में नगर निगम में यह सूचना भी दी गई थी अगर रेस्टारेन्ट पर कोई कार्यवाही की जाती है तो पहले सूचित किया जाये और न्यायालय के द्वारा संचालक को 11 तारीख को सुनवाई के लिए तारीख दी गई थी । परन्तु नगर निगम प्रशासन द्वारा 11 तारीख की सुबह को रेस्टारेन्ट तोड़ा गया । हम यह जानना चाहते है क्या नगर निगम प्रशासन व जिला प्रशासन शहर में किसी भी तोड़ फोड़ पर इंतजार करता है कि जब वह बस जाये फिर उसे तोड़ा जाये । इस कार्यवाही में होटल में काम करने वाले 200 लोगों के परिवार की जीविका छीन ली गई जिला प्रशासन और निगम उन परिवारों के रोजगार की व्यवस्था और उनके लिए राहत राशि की व्यवस्था की । जो कि मानवीय संवदेनाओं को कुचलने का कार्य किया गया । अगर उनका होटल संचालक यश जैन भू माफिया है जैसा प्रशासन कह रहा है तो क्यों नहीं प्रशासन ने कोर्ट के समक्ष सबूत के साथ उन्हें भू माफिया नहीं सिद्ध किया यह सबसे बड़ा प्रश्न उठता है क्या जिला प्रशासन नगर निगम माननीय हाईकोर्ट से भी सर्वोच्च अपने आपको समझने लगा है । क्या प्रशासन ने कार्यवाही के पूर्व गुण दोष नियम मानवीय संवदेनाएं एवं विश्व व्यापी महामारी कोरोना अन्य विषय की जानकारी को नहीं परखा है जो कि विधि सम्मत नहीं है । संगठन ने यह चेतावनी देते हुए कहा है कि होटल संचालक को जल्द से जल्द न्याय नहीं मिलता है तो हमारे द्वारा उग्र आन्दोलन किया जायेगा जिसकी जवाबदारी सम्पूर्ण नगर निगम प्रशासन एवं जिला प्रशासन की होगी । इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से रघु तिवारी , रिजवान अली कोटी , अमित सोनकर , एन्ड्रीयास मसीह , एजाज अंसारी , हरिगोविंद कौरव , प्रेम सिंह , एवं सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.