Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

दिनदहाड़े बैंक के अंदर वृद्ध महिला से हुई लूट

0 5

बैंक प्रबंधन की लापरवाही और पर्याप्त सुरक्षा ना होने से इस तरह की घटना बढ़ती जा रही है..

सीसीटीवी फुटेज

जबलपुर।श्रीमती मीरा कोहली पति स्वर्गीय घासीराम कोरी फूटाताल, दुर्गा चौक, रविंद्रनगर, टैगोर वार्ड निवासी गत मंगलवार 23 जून 2020 को 11 बजे चेरीताल स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया मैं अपने खाते से अपनी पेंशन के पैसे निकालने गई हुई थी उन्होंने 40000रूपये नगद निकाले। राशि निकालने के पश्चात वे सोफे पर बैठ कर पैसे गिनने लगी तभी दो अज्ञात युवक उनके पास आए और उनसे पैसे फटे हुए हैं कहकर नोट जबरदस्ती लेकर गिनने लगे और जब वृद्ध महिला पैसे गिनने में व्यस्त थी तभी 40000 में से 20000 उन्होंने उनसे गिनने के लिए ले लिए और कुछ नोट वापस कर के वहां से रफा-दफा हो गए। जब इस घटना की सूचना बैंक के कर्मचारियों को दी गई तो उन्होंने कहा कि आप बैंक मैनेजर से बात कीजिए। बैंक मैनेजर से जब वृद्ध महिला ने शिकायत की तो उनके पास उनसे मिलने के लिए समय नहीं था और उन्होंने कोई भी कार्यवाही नहीं की जबकि 1 घंटे तक बैंक में बिठाए रखा यदि तुरंत सीसीटीवी फुटेज खंगाल कर देखा जाता तो अपराधी शीघ्र ही पकड़े जाते और राशि भी प्राप्त हो सकती थी।शहर में अपराध की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि आज बैंक के अंदर भी लोग सुरक्षित नहीं है बैंक के अंदर से वृद्ध महिला से 20000 की लूट होना एक बैंक के लिए शर्मनाक बात है साथ ही यदि वृद्ध महिला के साथ बैंक के मैनेजर द्वारा ऐसा व्यवहार किया जाए तो वह भी एक दुखद घटना है। जब बैंक प्रबंधन ने वृद्ध महिला की सहायता नहीं की तो वह सीधे कोतवाली थाने पहुंची और उन्होंने कोतवाली थाने में अपने साथ हुई लूट की घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई जिससे पुलिस प्रशासन तुरंत सख्ती में आया और आज 24 जून को बैंक से सीसीटीवी कैमरे की जांच की गई और उस व्यक्ति की पतासाजी की जा रही है किंतु बैंक के अंदर ही वृद्ध महिला के साथ 20000 जैसी अधिक रकम की लूट होना बैंक प्रबंधन और उनकी सुरक्षा पर प्रश्न चिन्ह हैं।
यदि शहर के बैंक के अंदर ही
पैसों का लेनदेन करने वाले सुरक्षित नहीं है तो आम सड़कों में यह स्थिति कितनी गंभीर होगी। यह हम सब जान सकते हैं।
सभी बैंको में सुरक्षा कर्मचारियों की संख्या बढ़ाई जानी चाहिए तथा पुलिस की गश्त भी होनी चाहिए जिससे इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाई जा सके दिनों दिन जिस प्रकार शहर में लूट और चोरी की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं उससे हमारे शहर की कानून व्यवस्था पूरी चरमरा गई है प्रशासन को शीघ्र ही इस ओर ध्यान देना चाहिए क्योंकि बैंक में आदमी पैसों के लेनदेन के लिए ही आता है और चोरी करने वाले शातिर लोग उन्हीं लोगों को अपना शिकार बनाते हैं जो या तो वृद्ध होते हैं फिर से अकेले होते हैं।
पुलिस प्रशासन को इस विषय को गंभीरता से लेते हुए शीघ्र से शीघ्र अपराधी को पकड़ना चाहिए क्योंकि यदि खुलासा होता है तो इसके पीछे पूरी गैंग या पूरा गिरोह ही सामने आ सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.