Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

पिता-पुत्र डबल मर्डर केस का हुआ खुलासा

0 33

दो कातिल पुलिस के गिरफ्त में, दो फरार

शहडोल। वीरेंद्र प्रताप सिंह, विश्वास हलवाई के साथ सूर्य प्रताप सिंह। स्थानीय पुलिस कंट्रोल रूम में पत्रकारों को संबोधित करते हुए सतेन्द्र शुक्ला पुलिस अधीक्षक व बी. डी. पाण्डेय डीएसपी हेड क्वार्टर पुलिस ने ग्राम हर्री के पिता-पुत्र डबल मर्डर केस का खुलासा कर बताया कि थाना सोहागपुर पुलिस को 28 अगस्त 2020 को सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम हर्री में टाटा मोटर्स के सामने, करिया नाला के पास कच्चे रास्ते के बगल में दो व्यक्तियों के शव सूरज यादव एवं उसके पुत्र पप्पू उर्फ सुशील यादव मृत अवस्था में पड़े है, जिनके दोनों हाथ पीछे की ओर बंधे हैं, चेहरे में धारदार हथियार से चोट के निशान हैं।सूचना पर थाना सोहागपुर पुलिस की टीम घटनास्थल पर पहुंची और मौका पर ही मौजूद मोतीलाल यादव की रिपोर्ट पर अज्ञात आरोपियों के विरूद अपराध क्र. 415/2020 घारा 302 ताहि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। पुलिस टीम को प्रथम दृष्टतव्य घटनास्थल के निरीक्षण पर पता चला कि दोनों मृतक पिता-पुत्र है, जिनके नाम सूरज यादव पिता बैजराम यादव उम्र 58 साल निवासी ग्राम हर्री थाना सोहागपुर एवं पप्पू उर्फ सुशील यादव पिता सूरज यादव उम्र 26 साल निवासी ग्राम हर्री थाना सोहागपुर है। दोनों मृतकों का शरीर खून से लथपथ था, दोनों के हाथ कपड़े से पीछे की ओर बंधे हुए थे एवं चेहरा पर गाल, दाढी, कंधे च सीने पर गहरे धारदार हथियार के घाव लगे दिखे। दोनों के शरीर में लगे घावों से काफी खून बहा हुआ था। परत दर परत मामले की तह तक प्रारंभिक विवेचना में घटनास्थल एवं दोनों मृतकों के घर का निरीक्षण करने पर घर का दरवाजा खुला होना एवं सामान अस्त-व्यस्त होना पाया गया। घर के अंदर कई जगह खून के धब्बे पड़े हुए थे, घर की अलमारी का लाकर खुला हुआ था एवं अलमारी के कपड़े जमीन पर बिखरे हुए थे। इस आधार पर प्रथमदृष्टया अज्ञात आरोपियों के द्वारा घर का सामान लूट कर मारपीट एक हत्या करने के तथ्य प्रकाश में आए। मृतकों के परिजनों से पूछताछ करने पर उनके द्वारा प्रारंभिक तौर पर ऐसा कुछ भी नहीं बताया गया जिसके आधार पर विवेचना की दिशा तय की जा सके, जिससे शहडोल पुलिस के लिए उक्त प्रकरण में आरोपियों का पता लगाना एवं उनके विरुद्ध साक्ष्य एकत्रित करना कठिन कार्य था। पूरी तरह से अंधे कत्ल के इस मामले में मृतकों एवं उनके परिजनों से संबंधित समस्त आशंकाओं को संज्ञान में लेते हुए विस्तृत विवेचना प्रारंभ की गई। प्रकरण की विवेचना एवं अज्ञात हत्या के आरोपियों को ट्रेस करने के लिए थाना सोहागपुर के निरीक्षक सुदीप सोनी, उप निरीक्षक किरण बरकड़े, उप निरीक्षक उमाशंकर चतुर्वेदी, सउनि रजनीश तिवारी, सउनि रामराज पाण्डेय, सऊनि बालकरण प्रजापति, प्र.आर. 341 सुरेश कुमार अहिरवार, प्र. आर. 116 रामप्रसाद चतुर्वेदी, प्र.आर. मो. सफी, आर. 9 हीरालाल, आर. 370 अजीत सिंह, आर.581 लक्ष्मी पटेल, आर. 694 उमेश धुर्वे, आर. चालक रंजीत कनासिया की पुलिस टीम को घटना दिनांक से आज दिनांक तक लगातार, सघन पूछताछ के दौरान यह तथ्य संज्ञान में आया कि मृतक पिता गांजा का सेवन करता था एवं कुछ असामाजिक तत्वों के साथ उसका मेल जोल था। निगरानी बदमाश कोमल यादव पर हुआ संदेह
प्रकरण के अनुसंधान दौरान इस दिशा में गहराई से आगे सूचना संकलन की गई तो पता चला कि थाना का निगरानी बदमाश कोमल यादव पिता स्व. बाबूलाल यादव उम्र 40 साल निवासी हरदी एवं पिंटू यादव अपने कुछ साथियों के साथ घटनास्थल के आसपास कंचनपुर पेट्रोल पंप एवं स्टार ढाबा में घटना समय पर देखे गये थे। उक्त अपराध में पूछताछ हेतु उनकी पतारसी करने पर वे घटना दिनांक को ही घर से फरार थे। सोहागपुर पुलिस द्वारा इसी दिशा में आगे बढ़ते हुए आरोपियों की पता-तलाश व्यापक स्तर पर प्रारंभ की गई, जिस परको ग्राम हरदी से ही संदेही कोमल यादव पिता स्व. बाबूलाल यादव उम्र 40 साल निवासी हरदी को गिरफ्तार कर उससे सघन पूछताछ की गई। पुलिस के आगे कातिल कोमल यादव ने घुटनें टेके कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपी कोमल यादव ने बताया कि उसके द्वारा अपने साथियों पिंटू यादव, अनिल यादव एवं एक नाबालिग साथी से मिलकर दोनों मृतकों से मारपीट कर घर से टी.व्ही. सेटअप बाक्स, 10 हजार रूपये नगद एवं ज्वेलरी लूट कर ले गए थे। आरोपीगणों द्वारा पिता-पुत्र को दोनों हाथ कमर के पीछे बांधकर मोटर सायकिल से करिया नाला जगदीश सिंह के खेत के पास ले जाकर धारदार हथियारों से उनकी हत्या कर दी गई। नाबालिग आरोपी ने किया जुर्म स्वीकार आरोपी कोमल यादव के बताये अनुसार नाबालिग आरोपी से उसके पिता की उपस्थिति में पूछताछ की गई, जिसने अपना जुर्म स्वीकार किया। 5 हजार नगद सहित बका, स्कूटी, सिंहासन बरामद
आरोपी कोमल यादव की निशादेही पर उससे टीव्ही सेटअप बॉक्स व 2500 रूपये नगद एवं नाबालिग आरोपी से पीतल का छोटा सिंहासन और 2500 रूपये नगद एवं घटना में प्रयुक्त हथियार बका व स्फूटी जप्त की जा चुकी है। प्रकरण के दो अन्य आरोपियों पिंटू यादव पिता अयोध्या उम्र 22 साल एवं अनिल यादव पिता सोहन यादव उम्र 24 साल दोनों निवासी ग्राम हरदी की पता तलाश की जा रही है। फरार आरोपियों पर पांच-पांच
हजार रूपये का ईनाम पुलिस अधीक्षक शहडोल द्वारा फरार आरोपियों पिंटू यादव एवं अनिल यादव पर पांच-पांच हजार रूपये ईनाम की उद्घोषणा की गई है। शीघ्र गिरफ्तार कर उक्त आरोपियों के विरुद्ध नियमानुसार वैधानिक कार्यवाही की जावेगी

Leave A Reply

Your email address will not be published.