Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

प्राईवेट स्कूलों की तीन माह की फीस हो माफ

0 13

एनएसयूआई ने राज्यपाल महोदय के नाम सौंपा ज्ञापन
कोरोना संकट के चलते फीस माफ करने की अपील

पन्ना। इन दिनों कोरोना संकट के चलते हर कोई परेषान हैं। विगत तीन माह के करीब हो रहा है और सारे काम काज प्रभावित हैं। लाॅकडाउन के चलते स्कूल काॅलेज के साथ आम लोगों के काम धंधे भी बंद हैं। ऐसे में प्राईवेट स्कूलों द्वारा अभिभावकों पर लगातार फीस जमा करने का दबाव बनाया जा रहा है। इससे अभिभावक व छात्र परेषान हैं। इसे देखते हुए आज भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष मृगेन्द्र सिंह गहरवार ने राज्यपाल महोदय के नाम एडीएम पन्ना को ज्ञापन सौंपा और तत्काल प्राईवेट स्कूलों की फीस माफ करने का आग्रह किया। ज्ञापन में बताया गया कि इन दिनों सभी काम धंधे बंद होने के कारण मध्यम वर्ग के लोग परेषान हैं। तीन माह के करीब लम्बे संकट के चलते सब की आर्थिक स्थिति बिगड़ चुकी है। ऐसे में प्राईवेट स्कूल संचालकों द्वारा लगातार फीस की मांग कर अभिभावकों पर मानसिक दबाब बनाया जा रहा है। जिससे हर कोई परेषान हैं। वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए पन्ना सहित संपूर्ण मध्यप्रदेष में प्राईवेट स्कूल संचालकों के लिए निर्देष जारी किए जायें  िकवे तीन माह की फीस माफ करें। ज्ञापन देने पहंुचे कांग्रेस नेता मनोज गुप्ता केसरवानी ने कहा कि यह समय एक दूसरे की मदद का है। स्कूल प्रबंधन को अभिभावकों के बारे में भी विचार करना चाहिए। उन्होंने एडीएम जेपी धुर्वे से आग्रह करते हुए कहा कि पन्ना जिले के सभी प्राईवेट स्कूल संचालकों की बैठक आयोजित कर उन्हें इस संबंध में निर्देषित किया जाये कि वे फीस के लिए अभिभावकों पर अनावष्यक दबाब न बनाएं। साथ ही तीन माह की फीस माफ करने के प्रस्ताव पर स्वैच्छा के विचार करें। इसी ज्ञापन देने पहंुचे कांग्रेस जिला प्रवक्ता अंकित शर्मा ने जिला प्रषासन से इस मामले पर गंभीरता से कार्यवाही करने की मांग की। ज्ञापन सौंपने वालों में मुख्य रूप से मनोज गुप्ता केसरवानी, मृगेन्द्र सिंह गहरवार, अंकित शर्मा, जीतू तिवारी उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.