Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

बारिश के चलते बढ़ा सुनार नदी का जलस्तर

0 18

दमोह। सुनार नदी के जल स्तर बढ़ने से खिले कम वर्षा होने के चलते भारी गर्मी और उमस का सामना कर रहे लोगो के लिए मंगलवार की सुबह की किरण राहत भरी साबित हुई। जहाँ आसमान में आये काले बादलों ने दिन भर गरजते हुए रिमझिम और झमाझम बारिश से इलाके को न सिर्फ सराबोर कर दिया बल्कि उमस और भारी गर्मी से राहत प्रदान की है। इसी बीच सुनार नदी का जलस्तर बारिश के सीजन में पहली बार बढ़ने की खबर लगते ही स्थानीय लोगो के चेहरों पर मुस्कान देखी गई। लोगो ने बताया कि बारिश के सीजन में सुनार नदी का जलस्तर काफी दफा बढ़ जाता था इससे लोगो को मुशीबत खड़ी हो जाती थी क्योंकि नदी किनारे निवास करने वालो को अपनव मकान खाली करने पड़ जाते थे लेकिन इस बार पूरे सीजन में एक भी बार नदी का जल स्तर नही बड़ा था। जिससे नदी की हालत काफी दयनीय बनी हुई थी। सीजन में पहली बार बड़े नदी के जल स्तर को देखने सुनार नदी के घाटो पर नदी के रूप को निहारने वालो का हुजूम दिन भर उमड़ता हुआ देखा गया।

दमोह जिले में अभी तक 25.1 इंच वर्षा दर्ज

जिले में इस वर्ष 1 जून से अभी तक 637.7 मिमी. अर्थात 25.1 इंच औसत वर्षा दर्ज हुई है। जो अभी तक गत वर्ष से 14.3 मिमी. अर्थात 0.6 इंच कम है। इसी अवधि में गत वर्ष 652 मिमी. अर्थात 25.7 इंच औसत वर्षा दर्ज की गई थी। इस वर्ष अभी तक जिले में सबसे ज्यादा वर्षा तेन्दूखेड़ा में 836.8 मिमी. दर्ज की गई है। अधीक्षक भू-अभिलेख वर्षा दुबे से प्राप्त वर्षा के आंकड़ों अनुसार जिले के वर्षा मापी केन्द्र दमोह में 505 मिमी., पथरिया 718 मिमी., हटा 573 मिमी., पटेरा 517 मिमी.,बटियागढ़ 574.3 मिमी. तेन्दूखेड़ा 836.8 मिमी तथा जबेरा में 740 मिमी. वर्षा दर्ज की गई है। दैनिक वर्षा के तहत बीते 24 घंटों के दौरान 30.9 मिमी अर्थात 1.2 इंच वर्षा रिकार्ड की गई है। वर्षामापी केन्द्र दमोह 29 मिमी., पथरिया 17 मिमी., पटेरा 60 मिमी.,बटियागढ़ में 06 मिमी, तेन्दूखेड़ा 69.2 मिमी तथा जबेरा में 35 मीमी. वर्षा दर्ज की गई है। जिले की औसत वार्षिक औसत वर्षा 1246.6 मिमी. है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.