Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

भाई की कलाई पर राखी बांधने से पहले खत्म हो गया बहन का परिवार

0 9

गाडरवारा नांदनेर के पास सुबह 4 बजे तेल के जार से भरा एक ट्रक पलटने से पति, पत्नी सहित दो बच्चों की मौत हो गई।

गाडरवारा। भाई की कलाई पर राखी बांधने के जुनून में ट्रक पर बैठकर जबलपुर जा रही एक बहन समेत हंसता-खेलता पूरा परिवार तेल से भरे कंटेनरों में दबकर हमेशा के लिए सो गया। ये दर्दनाक हादसा गाडरवारा तहसील के नांदनेर गांव में सोमवार तड़के करीब 5.30 बजे हुआ है। गाडरवारा टीआई अखिलेश मिश्रा ने बताया कि सोनकच्छ देवास निवासी किराना व्यवसायी वीरेंद्र बजाज (35) पत्नी पूजा के कहने पर अपने ससुराल जबलपुर के लिए रविवार रात को सोनकच्छ स्थित घर से तेल के कंटेनरों से भरे ट्रक पर सवार होकर निकले थे। उनके साथ 11-12 साल के दो बच्चे लक्ष्य और मयंक भी थे।

ट्रक ड्राइवर ने इन्हें कंटेनरों पर बिस्तर बिछाकर सोने की इजाजत दी थी, लेकिन इस दंपती को क्या पता था कि वे इस बिछोने से कभी उठ ही नहीं पाएंगे। सोमवार तड़के नांदनेर गांव के पास ट्रक के पलटने पर ये दंपती और उनके बच्चे 20-20 लीटर के दर्जनों कंटेनरों में दबकर हमेशा के लिए शांत हो गए। वहीं हादसे के बाद ट्रक ड्राइवर व कंडक्टर फरार बताए जा रहे हैं। जिस ट्रक एमपी 46 G 1222 से ये हादसा हुआ वह इंदौर के खजराना निवासी मोहम्मद हनीफ खान का बताया जा रहा है। इंदौर व देवास पुलिस को इसकी सूचना दे दी गई है।

राखी के लिए पत्नी को छोड़ने जा रहे थे जबलपुर

सोनकच्छ से मिली जानकारी के अनुसार वीरेंद्र बजाज मूल रूप से सीहोर के रहने वाले थे, सोनकच्छ में अपने मामा के यहां बचपन से रहते थे। वे राखी के त्योहार पर पत्नी पूजा को ससुराल छोड़ने जबलपुर जा रहे थे। वे वीरेंद्र सोनकच्छ में ही एक किराना दुकान चलाते थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.