Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

राष्ट्र निर्माण की नींव मजदूर भाइयों के लिए कांग्रेस ने उठाई आर्थिक सहायता की मांग

0 5

जबलपुर। कोरोना काल में मजदूरों की परेशानी किसी से छुपी नहीं रही। देश ने हृदय विदारक दृश्य को देखा और व्यवस्था को कोसा भी। मजदूरों के लिए कुछ किया भी गया है और कहीं लापरवाही भी उजागर हुई हैं। जिसके चलते मजदूरों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा ऐसे ही मजदूरों के लिए आर्थिक सहायता की आवाज बनकर उभरी है कांग्रेस। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी पिछड़ा वर्ग विभाग के प्रदेश अध्यक्ष सांसद राजमणि पटेल के निर्देश पर जिला मुख्यालय में राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन प्रदेश प्रवक्ता टीकाराम कोष्टा द्वारा एस.डी.एम.गोहलपुर जबलपुर को ज्ञापन का वाचन करते हुये कहा कि कोरोना महामारी में सरकार की नकामी के कारण हमारे बीच गरीब मजदूर साथी जो अपना और बच्चों का पेट पालने के लिये पर से हजारों किलोमीटर दूर शहरों में जाता है। बिना विशेष कारण के ,अपनी मर्जी से रोजी रोटी को लात नहीं मारता, छोड़ता नहीं, पलायन नहीं करता, लॉकडाउन के बाद जब तक गरीब मजदूर और छात्रों के घरो में खाना था, पैसा था, कुछ नहीं बोला। उसके बाद भूखे पेट भी सरकार की मदद की राह देखता रहा । जब खाने के लिए दाना भी नहीं बचा। तो मजबूर होकर लाखों की तादाद में गरीब मजदूर छात्र पैदल, ट्रकों ट्राली में निकल पडे। उन्हें जगह -जगह पुलिस द्वारा बर्बरता से पीटा गया। ऐसे बेबस लोगों में एस. सी, एस टी ओ.बी.सी अल्पसंख्यक एवं अन्य वर्ग के मजदूर थे। जो वास्तव में देश के निर्माण की बुनियाद है। ऐसे मजदूर सायी जो शहीद हो गये है उनके परिवार को 20 लाख रूपये की मदद की जावे। एवं जिन गरीब मजदूर साथियों का रोजगार खत्म हो गया है। उन्हे जब तक रोजगार की व्यवस्था नही होती तब तक 10 हजार रूपये प्रति माह प्रदान किया जावे। जो मजदूर साथी बाहर फसे हुए है उनके घर जाने की फ्री व्यवस्था करें। मनरेगा के 100 दिन के स्थान पर 200 दिन के रोजगार की व्यवस्था की किया जावे। किसानों का कर्ज माफ किया जावे । स्कूलों की फीस एवं बिजली के बिल ३ माह के माफ किये जावे।
प्रदेश प्रवक्ता टीकाराम कोष्टा,नेकराम पटैल, ताहिर खोखर, अमित नामदेव,मामूर गुड्डु ,प्रशात चौरसिया, रामस्वरूप पटेल आदि कहा कि जब लॉकडाउन का आल्हा 700 था तब लाकदाउन किया गया और जब 3 लाख के आसपास पहुंच रहा है तब लॉक डाउन खत्म किया जा रहा हैं जो समझ से परे है । करोना जैसी महामारी को खत्म करने के लिए आवश्यक कदम उठाया जाये।

Leave A Reply

Your email address will not be published.