Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

व्यापारी-परिजनो की जान को खतरा

0 12

सतना कलेक्टर ने 33 दुकानों को शासकीय घोषित किया

सतना। एक सालों पुरानी भारतीय कहावत है कि जब किसी व्यक्ति को उम्मीद से कहीं ज्यादा नसीब हो जाता है तो उसका मानसिक संतुलन बिगड़ने लगता है, जो खुद के परिवार और समाज के लिए घातक साबित होता है। कुछ इसी तरह के हालात सतना जिले के अमरपाटन विधानसभा क्षेत्र में निर्मित हो गये हैं। भाजपा विधायक रामखेलावन पटेल को जब सरकार का हिस्सा बनाया गया तो उन्हें एक बारगी खुद यकीन नहीं हुआ। भाजपा सरकार में सतना जिले से रामखेलावन पटेल अमरपाटन विधायक को मंत्री बनाया है। पावर मिलते ही अपनी आदत के अनुसार अमरपाटन विधायक रामखेलावन पटेल एक्शन मोड़ में आ गए। सतना कलेक्टर अजय कटेसरिया ने एक फैसला करते हुए अमरपाटन तहसील की उन 33 पक्की दुकानों को शासकीय घोषित कर दिया। इसे निजी बताकर कब्जा किया गया था। सतना कलेक्टर अजय कटेसरिया का आदेश जारी होने के तुरंत बाद पावरफुल मंत्री के दबाव वश अमरपाटन नगर परिषद ने 33 में से केवल एक दुकानदार को नोटिस जारी करते हुए निर्माण गिराने की चेतावनी जारी कर दी गई है। स्थानीय निवासी विनोद जैन ने आरोप लगाया कि मंत्री के दबाव में आकर केवल हमारे यहां दोपहर दो बजे परिषद वालों ने नोटिस लगाकर 48 घंटे का अल्टिमेटम दिया है। शेष 32 दुकानों पर जो लोग मौजूद हैं उन्हें नोटिस तक जारी नहीं किया गया है। व्यापारी विनोद जैन ने अपनी शिकायत में पावरफुल मंत्री अपनी और परिजनों को जान का खतरा बताया है। बताया जाता है कि सन् 1950 में रीवा संभागायुक्त ने इस जमीन पर पट्टा आवंटित किया था। दो दिन पहले सतना कलेक्टर ने अमरपाटन तहसील की 33 दुकानों को शासकीय घोषित कर दिया है। इस घोषणा के तुरंत बाद मंत्री के दबाव में आकर अमरपाटन नगर परिषद ने विनोद जैन की दुकान के बाहर एक नोटिस चस्पा कर दी है जिसमें दुकान खाली करने के लिए 48 घंटे का समय दिया गया है। परेशान विनोद जैन ने कहा कि मंत्री का पावर दिखाकर दूसरों की जमीन पर कब्जा करने का प्रयास किया जा रहा है।

खुद मंत्री की दुकान भी शासकीय हुई घोषित
जिला प्रशासन से जुड़े सूत्रों ने बताया कि अमरपाटन विधायक और भाजपा सरकार में मंत्री रामखेलावन पटेल ने अपना पूरा फोकस व्यापारी विनोद जैन पर लगा रखा है। सतना कलेक्टर ने अमरपाटन की जिन 33 दुकानों को सरकारी घोषित किया है उनमें खुद मंत्री की दुकान भी शामिल है। सूत्रों ने बताया कि राजनैतिक दुश्मनी वश अमरपाटन विधायक विनोद जैन को अपना निशाना बना रहे हैं। कलेक्टर से आदेश जारी कराने में भी भाजपा सरकार के मंत्री की भूमिका विशेष बताई जाती है। कलेक्टर आदेश की जानकारी होने के उपरांत तुरंत अमरपाटन परिषद कार्यालय के माध्यम से केवल विनोद जैन व्यापारी को नोटिस दिलवाया गया। पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह का करीबी होने की वजह से विनोद जैन को भाजपा सरकार में मंत्री पद हासिल करने वाले अमरपाटन विधायक रामखेलावन पटेल अपना मुख्य निशाना बना रहे हैं। इस मामले में सतना कलेक्टर अजय कटेसरिया की कार्यवाही पूरी तरह से राजनैतिक इशारे पर अंजाम दी गई है। परेशान व्यापारी विनोद जैन ने कहा कि 48 घंटे का समय 33 में से केवल मुझे दिया गया है। उन्होंने कहा कि यदि केवल मंत्री के कहने पर सिर्फ हमारी दुकान गिरवाई गई तो हम परिवार के सभी लोग जहां पर होंगे वहीं आत्म हत्या कर लेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.