Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

सजग प्रहरी और नारी शक्ति का प्रतीकः थाना प्रभारी रीना पांडेय

0 68

जबलपुर। पूरी दुनिया कोरोना कि वैश्विक महामारी से जूझ रही है। हमारा देश इस क्षेत्र में जो कार्य कर रहा है उसे पूरा विश्व कौतूहल भरी नजर से देख रहा है। इसके साथ ही हमारा शहर अब तक जो इस क्षेत्र में काम कर पाया है वह भी लोगों की नजर में आ रहा है। कोरोनावायरस के प्रति इस अभियान का श्रेय हमारे कोरोनावायरस को जाता है प्रथम पंक्ति में जहां हमारे मेडिकल टीम डॉक्टर्स और उनका स्टाफ कोरोना से लड़ रहा है। हमारे शहर का प्रशासन जिलाधीश भरत यादव के नेतृत्व में पूरी मुस्तैदी के साथ काम कर रहा है। वहीं हमारा पुलिस बल शहर के पुलिस कप्तान अमित सिंह के संचालन में लोगों को सजग सावधान करने के साथ-साथ जरूरतमंदों तक उनकी जरूरत का सामान भी पहुंचा रहा है।   पुलिस प्रशासन अपने सैनिकों की मदद से लोगों को हर तरीके अपनाकर अपने अपने घरों में ही रहने के लिए प्रेरित कर रहा है। पुलिसकर्मी अपने परिवार वालों से दूर रहकर आम नागरिकों के लिए डटकर खड़े हैं। पुलिस की वर्दी कोरोना एंटीवायरस बनकर सामने आई है परंतु इसका आशय नहीं की पुलिस की वर्दी पूर्ण पूर्ण सुरक्षित है। इस कार्य में नारी शक्ति की एक अहम भूमिका नजर आ रही है आज हम बात करते हैं तिलवारा थाना प्रभारी रीना पांडेय शर्मा की। उन्होंने एक नारी शक्ति के रूप में अपने आप को साबित किया है। इनके कंधो पर परिवार के साथ साथ पूरे थाना क्षेत्र की भी जिम्मेदारी है। तिलवारा थाने से जबलपुर शहर की सीमा प्रारंभ होती है। हमारे पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में सबसे अधिक कोरोना पीड़ित हैं। यह सीमा भारत से आने वाले राष्ट्रीय मार्ग में है सीमा के साथ-साथ ग्रामीण थाना होने के कारण ग्रामीणों को समझाना। मजदूर समुदायों गरीब परिवारों को समझाने के साथ-साथ उन्हें राशन भोजन और आवश्यक सामग्री पहुंचाने का कार्य भी थाना प्रभारी के मार्गदर्शन में किया जा रहा है। इनकी जिम्मेदारी तब और कठिन हो जाती है जब कि इनके पति अखिलेश शर्मा जी भी पुलिस विभाग में अधिकारी के पद पर हैं जिनके ऊपर भी पूरे जिले की जिम्मेदारी है इस कठिन दौर में ड्यूटी पर तैनात रखकर अपने दोनों बच्चों को घर पर सुरक्षित अकेले छोड़कर हमारे और हमारे परिवार की रक्षा करना एक महान कार्य है। दोनों के घर पहुंचने का भी कोई निश्चित समय नहीं होता उसके बाद भी घर पर एक मां पत्नी की जिम्मेदारी निभाते हुए सेवा कार्य में लगे है। इस महामारी से लड़ने के साथ-साथ थाने के अंतर्गत अन्य घटनाएं भी पंजीकृत हो रही हैं फिर चाहे वह कच्ची शराब का मामला हो या चोरी का या दुर्घटना का। इसके पहले भी रीना पांडे शर्मा जी कई कठिन केस सुलझा चुकी हैं विगत माह एक बच्ची के अपहरण का मामला जो पुलिस के लिए बहुत बड़ी चुनौती था उसको हल करना अवैध हथियारों का मामला गांजा तस्करी आदि के अपराधियों को पकड़ना।

Leave A Reply

Your email address will not be published.