Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

समस्याओं का निराकरण करें जिलाधीश

0 5

मण्डला। मध्यप्रदेश के मण्डला जिले में जिलाधीश से जनता की ढेर सारी अपेक्षायें हैं। क्या कलेक्टर द्वारा जनता की अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए परिणामकारी प्रयास किये जायेंगे ?नागरिक इस सम्बंध में जानना चाह रहे हैं। नागरिकों की अपेक्षाऐ है कि मध्यप्रदेश का विकास में सबसे पिछड़ा हुआ आदिवासी बाहुल्य मण्डला जिला पूरी तरह से विकसित होकर विकास की मुख्य धारा से जुड़ेगा या नहीं ?सरकारी शिक्षा व स्वास्थ्य व्यवस्था ठीक-ठाक नही है। उधोगो का अभाव बना हुआ है। पर्यटन विकास गति नही पकड़ पा रहा है। बेरोजगारी गंदगी बीमारी निरक्षरता जैसी समस्याएं मौजूद हैं। सड़को व सभी तरह की सरकारी भवनों की हालत खस्ता हो गई है इनकी मरम्मत इत्यादि का काम जरूरी हो गया है।नर्मदा तटो की विकास की बेहद आवश्यकता है केंद्र व राज्य सरकार के अनुदान से चलने वाले शिशु पालना केंद्रों को अनुदान की राशि नही दी जा रही हैं। सरकारी स्कूलों के मिडडे मील के स्वसहायता समूहों और आंगनवाड़ी केंद्रों के सांझा चूल्हा कार्यक्रम के समूहों को समय पर राशन व राशि समय पर नही दी जा रही हैं। सघन पौधा रोपड़ और उसके सुरक्षा के लिए विशेष ध्यान नहीं दिया जा रहा है। नागरिको को 24घण्टे बिजली नही मिल पा रही हैं। कृषि उद्यानकी वानकी की गतिविधियों को हकीकत के धरातल में संचालित करने की आवश्यकता है।अवैध तरिके से चल रहे स्टोन क्रेशरों को शीघ्र बन्द करने की जरूरत है। खनिज संपदा के अवैध उत्खनन व परिवहन पर रोक लगाना जरूरी हो गया है। राजस्व की सभी तरह की समस्याओं के निराकरण के लिए खास ध्यान देने की आवश्यकता है। बरसात पूर्व की तैयारी कही दिखाई नहीं दे रही है। शासन -प्रशासन स्तर से बरसात की तैयारी करना अत्यंत जरूरी है। पानी की समस्या को सुझाना जरूरी हो गया है। कई हेंडपंप और नल-जल योजनाए बन्द पड़ी हुई है। जन सुनवाई और सीएम हेल्पलाइन में प्राप्त आवेदन पत्रो और शिकायतों के निराकरण का भौतिक सत्यापन जरूरी हो गया है। लम्बित शिकायतों के निराकरण के लिए भी ध्यान देना जरूरी हो गया है। मध्यप्रदेश के मण्डला जिले में केंद्र व राज्य सरकार की सभी तरह के योजनाओ का संचालन कागज में कम हकीकत के धरातल में ज्यादा करना जरूरी हो गया है। जिले में सभी विभागों को अत्यंत सक्रिय करने की आवश्यकता है।फर्जी तरीके से खुले में शोंच मुक्त हो चुके मण्डला जिले को हकीकत के धरातल में गंदगी व खुले में शोंच मुक्त करने की बेहद आवश्यकता है। स्वच्छ भारत मिशन की इस जिले में हवा निकल गई है। भारी फर्जीवाड़ा कर भारी धांधली किये जाने की आशंका है। शुरू से लेकर अब तक कि जांच करना भी जरूरी हो गया है। क्या कलेक्टर द्वारा उक्त तरह की सभी तरह की समस्याओं अलावा अन्य ऐसी कई तरह समस्याओं का निराकरण भी किया जाएगा? नागरिक सवाल कर रहे हैं। कलेक्टर मण्डला से जनता की ढेर सारी अपेक्षाये है। यह जिला तेज गति से विकसित हो ऐसी नागरिको की मांग है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.