Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

सिकंदर पोर्न वीडियो बनवाकर वेबसाइट पर करता था अपलोड

0 44

•रीवा के ढेकहा में बनाए जाते थे वीडियो
•फायर अगेन टाइटल से बनाई जाती थी नीली फिल्में
•एडिशनल एसपी के पास पहुंची शिकायत।

सातना।नाबालिग लड़की से दुष्कर्म और ब्लैक मेलिंग में फंस चुके सिकंदर के मामले में अब तक का सबसे बड़ा खुलासा सामने आया है। एडिशनल एसपी के समक्ष की गई शिकायत में बताया गया है कि सिकंदर कुछ लोगों से पोर्न वीडियो बनवाता था। इसके बाद फायर अगेल टाइटल के साथ इन वीडियो को पोर्न वेबसाइटों पर अपलोड किया जाता था। यह काम रीवा जिले के ढेकहा स्थित एक किराये के मकान में किया जा रहा था। मामले की जानकारी मिलने पर एडिशन एसपी ने सीएसपी को इसके अगले दिन बयान दर्ज करने के निर्देश दिए हैं।
इस पूरे मामले की जानकारी शिकायतकर्ता ने बताया कि जिस लड़की के साथ पोर्न वीडियो बनाये जा रहे थे, वह लड़की पहले उसकी गर्ल फ्रेण्ड थी। जब दोनों रिलेशन में थे उस दौरान अचानक एक वेबसाइट में उसकी अश्लील वीडियो देखने के बाद इस बावत पूछा तो उसने टालने वाले जवाब दिये। इसके बाद से उसे शंका होने लगी। तब उसने अपनी गर्ल फ्रेण्ड का चोरी छिपे पीछा करना शुरू कर दिया।
रीवा में हो रहा था खेल
युवक ने बताया कि लगातार पीछा करने पर उसने पाया कि यह लड़की अपने ही गांव के दो लड़कों के साथ अलग-अलग समय पर रीवा के ढेकहा स्थित एक मकान में जाती है। एक निजी स्कूल के पास स्थित इस माकान में इन लोगों को उसने कई बार देखा और बाद में उन्हीं लोगों के अश्लील वीडियो भी वेबसाइट में देखे। इस दौरान एक अनजान युवक अपने वाहन से वहां पर अक्सर दिखता था।
इस तरह पता चला सिकंदर का
युवक ने बताया कि पहले तो वह अनजान युवक को नहीं जानता था। लेकिन जब सतना में उसके पोस्टर देखे तो पहचान गया कि संबंधित युवक वही है जो रीवा के किराये के मकान में उसकी गर्ल फ्रेण्ड और उन लड़को के साथ दिखता था। बताया कि लड़की से वीडियो में जो युवक अश्लील फिल्म बनाता है उसकी शादी हो चुकी है। युवक के अनुसार इस वेबसाइट से कमाई भी होती थी जिसका पैसा सिंकदर लड़की के खाते में दिया करता था।
पहले एसपी आफिस में कर चुका है शिकायत
युवक ने बताया कि इस संबंध में उसने अगस्त माह में एसपी आफिस में लिखित में शिकायत भी दे चुका है। लेकिन तब वहां से उसे यह कह कर अनसुना कर दिया जाता था कि वो लोग फिल्म बना रहे हैं तुम्हे क्या है। जब तुम्हारी बनाएंगे तब देखेंगे। उसने यह भी बताया कि शिकायत को लेकर वह कई बार एसपी आफिस के चक्कर लगाया। एक बार कोतवाली से भी फोन आया तब आवेदन की फोटोकॉपी और सीडी चाही गई। जिसे अनुज सिंह बघेल नामक पुलिस अधिकारी को दिया गया। इसके बाद लगातार चक्कर लगाता रहा लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। फिर इन्ही अधिकारी ने मामले से दूर रहने कहा और अभी हाल में एक दिन काल करके गाली देकर बात किये।

Leave A Reply

Your email address will not be published.