Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

स्कूल परिषर मे फेंकी जाती है हड्डियां

0 7

वार्डवासियो ने सौंपा ज्ञापन , शासकीय जमीन पर अतिक्रमण का मामला

जिले मे शासकीय भूमि से अतिक्रमण कम होने का नाम नही ले रहा और आये दिन शिकवे शिकायतें प्रशासन के पास आती रहती है लेकिन शिकायतो के बाद भी शासकीय भूमि से अतिक्रमण नही हट पा रहा है। ऐसा ही मामला गत दिवस रानी अवंतीबाई वार्ड मे सामने आया जहां पर शासकीय भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराने हेतू वार्ड वासियो द्वारा ज्ञापन सौंपा गया ।

नरसिंहुपर । जिले मे शासकीय भूमि पर अतिक्रमण प्रचुर मात्रा मे हो चुका है और प्रशासन भी लाचार बना हुआ है जो शासकीय भूमि को भी अतिक्रमण से मुक्त नही करा पा रहा है । और अतिक्रमणकारियो के हौंसले दिनो दिन बुलंद होते जा रहे है एंव अतिक्रमण बढता ही जा रहा है ऐसा मामला एक बार फिर जिला प्रशासन के पास आया जिसमें वार्ड वासियो द्वारा ज्ञापन सौंप कर अतिक्रमण मुक्त कराने की मांग की है ।
मामला इस प्रकार
शिकायत उल्लेख किया गया है कि तिंदनी रोड गुप्ता आयरन के पास रानी अवंती बाई वार्ड में प्राथमिक शाला है एवं मध्यान भोजन हेतु किचन सेट की व्यवस्था नहीं है किंतु किचन सेट हेतु पूर्व से स्वीकृत है बच्चों को मध्यान्ह भोजन कक्षाओं में बनाया जाता है जिस जगह पर किचन सेट स्वीकृत है एंव वह जगह शासकीय स्कूल की जगह है जिस पर स्थानीय दबंग शेख आजाद , शेख आलम और शेख मन्नू खान ने अवैध कब्जा कर लिया है ।
नगर पालिका ने की दस्तूरी कार्रवाई
उक्त सभी अतिक्रमणकारियो के विरुद्ध नगर पालिका नरसिंहपुर द्वारा कार्यवाही की गई थी परंतु नोटिस भेजे जाने के नगर पालिका प्रशासन द्वारा अन्य कोई कार्रवाई नही की गई और की गई कार्रवाई भी दसतूरी कार्रवाई बन कर रह गई । उक्त अतिक्रमण कारियो के विरूद्व ठोस कार्यवाही की जानी चाहिये और नगर पालिका के कुछ कर्मचारियों की सांठगांठ से उक्त स्कूल की शसकीय भूमि की जगह पर त्रिपाल लगाकर चोरी छुपे तरीके से अतिक्रमणकारियों द्वारा पक्का निर्माण कर लिया गया है ।
स्कूल परिषर मे फेकी जाती है हड्डियां
ज्ञापन मे उल्लेख किया गया है कि उक्त तीनों
अतिक्रमणकारियों की मुस्लिम समुदाय से हैं जिनके द्वारा प्रतिदिन मांस मटन पकाया जाता है उक्त मटन की हड्डियां आदि स्कूल परिसर में फेंकी जाती हैं साथ ही घरेलू महिलाओं के अंगवस्त्र आदि सुखाए जाते हैं जिससे स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों की मानसिकता पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है।
बच्चों के विकास में हो रही बाधा
शिकायतर्काआओं की माने तो उक्त भूमि शासकीय है एंव अतिक्रमण होने के कारण बच्चे आने जाने व खेलने के लिए पर्याप्त जगह भी नही मिल पा रही है । जिससे उनके शारीरिक व मानसिंक रूप से विकास नही हो पा रहा है अत: ज्ञापन सौंपकर मांग की गई है कि अतिशीघ्र कार्रवाई कर उक्त भूमि को खाली कराया जावें ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.