Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

15 दिन बाद शिकायत दर्ज हुई नाबालिक की

0 10

अपहरण मामला दर्ज थाना करनपठार में

बृजेंद्र सोनवानी की कलम से

थाने में पदस्थ हेड कांस्टेबल सुमेर सिंह पीड़िता को बोल रहे हैं कि तुमको अपनी बेटी के ढूंढने में जो भी गाड़ी का खर्चा होगा तुम्हें उठाना पड़ेगा।

अनूपपुर / करनपठार – एक लाचार मां बाप अपनी अपहरण बच्ची के तलाश में यहां वहां शिकायत कर रहे थे। हमें जानकारी मिलते ही थाना करनपठार पहुंच कर मामला को जानना चाहा तो पता चला कि शिकायतकर्ता 15 जुलाई 2020 को शिकायत पत्र देकर शिकायत किया था कि गांव का ही एक लालू सिंह नाम का युवक नाबालिग पुत्री को अपहरण कर कहीं अन्यत्र जगह ले गया है और शायद लग रहा है कि वह उसे विक्रय कर दिया है। जिसके वजह से मेरी नाबालिग पुत्री नहीं मिल रही है और मैं यहां वहां भटक रहा हूं थाने में यहां आने पर मुझे बोल दिया गया कि बाहर बैठो तो मैं बाहर बैठा रहा लेकिन मेरे शिकायत करने का कोई भी असर नहीं दिखा और लालू सिंह जो मेरी नाबालिग पुत्री का अपहरण करता है वह खुले आम घूम रहा है और कह रहा है कि मेरा तुम कुछ नहीं कर सकते कारण यही है कि आने वाले कुछ नहीं कर रहे हैं और मैं जब परेशान हो गया तब कलेक्टर साहब के पास गया एसडीएम पुष्पराजगढ़ गया तब जाकर एसडीएम पुष्पराजगढ़ मेरे शिकायत पत्र पर मार्क किए तब जाकर 3 दिन बाद थाना करन पठार में शिकायत दर्ज हुआ ग्राम पंचायत रनई कापा का सरपंच का पुत्र नरेश सिंह अपहरणकर्ता लालू सिंह के साथ मिलाजुला है अपहरणकर्ता के मां-बाप को आए दिन सरपंच का पुत्र नरेश सिंह कहता है कि तुम जहां शिकायत करना चाहो कर सकते हो मेरा कुछ नहीं होगा और लालू सिंह को मैं बचा ले जाऊंगा कहीं ना कहीं नरेश सिंह के बात में दम तो है जो इस तरह की बातें सरेआम वह करता है इन्हीं के सहयोगी हैं इस थाना के हेड कांस्टेबल सुमेर सिंह जो रिपोर्ट दर्ज कराने पर यह कह रहे थे कि लालू सिंह को ढूंढने में और तुम्हारी बेटी को ढूंढने में गाड़ी का खर्चा तुमको उठाना पड़ेगा बताइए इस तरह का भाषा थाने में पदस्थ कर्मचारी कर रहा है पीड़ित के ऊपर क्या बीत रहा है अपनी बेटी के लिए तड़प रहे मां बाप के सामने इतना बड़ा संकट कि वह अब गाड़ी का व्यवस्था करें और अपनी बेटी को ढूंढें। थाना करण पठार मानवता को भूलकर अपराधियों का साथ दे रहा है ऐसे थाना प्रभारी और वहां पर पदस्थ भ्रष्ट पुलिस कर्मचारियों के ऊपर कार्रवाई होना चाहिए जो मानवता की सारी हदें पार कर चुके है। शिकायतकर्ता दया सिंह नाबालिग पुत्री के पिता ने साफ-साफ आवेदन में लिखा है कि मेरी पुत्री जो नाबालिक है उसे गांव का ही लालू सिंह 1 जुलाई 2020 को शाम 6:00 बजे अपहरण कर कहीं ले गया है आवेदन पत्र में यह भी लिखा है कि अगर मेरी नाबालिग पुत्री कि किसी भी प्रकार से अप्रिय घटना होती है उसका पूर्व जिम्मेदार लालू सिंह होगा इसके बावजूद भी थाना करनपठार में अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुआ

Leave A Reply

Your email address will not be published.