Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

वर्क्स कब्रिस्तान बढ़िया खेड़ा पर प्रशासन का ताला

0 56


मासूम बच्चे की अंतिम विदाई में हुई देरी।

जबलपुर| बढ़िया खेड़ा ग्राम स्थित वक्त कब्रिस्तान में प्रशासनिक अधिकारियों ने अवैध रूप से ताला डाल कर रखा है और कब्रिस्तान में प्रवेश पर रोक लगा दी है। और इससे दुखद बात यह हुई कि एक 1 वर्षीय मासूम जुबैद रजा की आकस्मिक मृत्यु के बाद उसके परिजनों को बच्चे को दफनाने के लिए इंतजार करना पड़ा। अधिकारियों की मनुहार के बाद बच्चे को दफनाया जा सका।
वक्फ कब्रिस्तान ग्राम बढ़ैयाखेड़ा वक्फ रजिस्ट्रेशन नंबर 312 स्तिथ खसरा नंबर 242 रकबा 0.070 हेक्टेयर पटवारी हल्का नंबर 62 रा.नि.मं. चरगवां, थाना चरगवां तहसील शहपुरा जिला जबलपुर वक्फ बोर्ड, भोपाल में वक्फ सम्पति के रूप में विधिवत पंजीकृत है। संबंधित प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा, अवैध रूप से कब्रिस्तान के गेट पर दो ताले डाले गए। वक्फ सम्पत्ति पर अवैध रूप से, मुस्लिम समाज के लोगों के प्रवेश पर अघोषित रोक लगा दी है। प्रशासनिक अधिकारियों के इस अवैध कब्जे से व्यथित होकर, वक्फ कब्रिस्तान बढ़ैयाखेड़ा इंतेजामिया कमेटी के अध्यक्ष शेख शहीद द्वारा मध्यप्रदेश वक्फ ट्रिब्यूनल, भोपाल में याचिका प्रस्तुत की गई। जिसका प्रकरण क्रमांक MJC 31/2020 वक्फ ट्रिब्यूनल में चल रहा है। जिसकी अगली सुनवाई 06/04/2021 को निर्धारित है। इस प्रकरण में वादी कब्रिस्तान इंतेजामिया कमेटी द्वारा, कलेक्टर जबलपुर सहित अनुविभागीय दंडाधिकारी (राजस्व) शहपुरा, तहसीलदार शहपुरा, नायब तहसीलदार अनुभाग चरगवां वृत एवं मप्र वक्फ बोर्ड को प्रतिवादी बनाया गया है।
ग्राम बढ़ैयाखेड़ा निवासी शेख शमसाद उर्फ सम्मू के एक वर्षीय मासूम पुत्र, जुबैद रज़ा का दिल में छेद की बीमारी के चलते सुबह 8 बजे आकस्मिक निधन हो गया था। वक्फ कब्रिस्तान बढ़ैयाखेड़ा इंतेजामिया कमेटी के अध्यक्ष शेख शहीद व सचिव शेख शमसुद्दीन ने बताया कि मासूम बालक की मैय्यत दफनाने हेतु कब्रिस्तान का ताला खोलने अधिकारियों से गुहार की गई। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व शहपुरा, तहसीलदार शहपुरा व मौजूद अन्य प्रशासनिक अधिकारियों ने बलात रूप से कब्रिस्तान के गेट पर लगे ताले को नहीं खोला। अधिकारियों की हठधर्मितता से परेशान होकर, जब ग्रामवासियों ने मासूम बच्चे का शव, सड़क पर रखकर चक्काजाम करने की तैयारी की। तब स्थानीय ग्रामवासियों के दबाव के चलते, प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा कब्रिस्तान के गेट पर, लगाये गए ताले को खोला गया। तब कही जाकर घण्टो बाद मासूम बच्चे की मैय्यत को दफन किया जा सका।
इनका कहना है- बच्चे की मौत के बाद इसकी मैयत को दफनाने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों से ताला खोलने की गुजारिश की गई मौके पर प्रशासनिक अमला आया पुलिस बल की मौजूदगी में कब्रिस्तान का ताला खोलकर मृतक 1 वर्षीय बालक की मय्यत को दफनाया गया। इस कब्रिस्तान में प्रशासनिक अधिकारियों ने अपना ताला क्यों लगाया है इस बारे में मैं कुछ नहीं कह सकता।
शेख शमसुद्दीन सचिव
बढ़िया खेड़ा कब्रिस्तान कमिटी

Leave A Reply

Your email address will not be published.