Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

उपयंत्री ने जहां डाला लेग आऊटः दूसरी जगह ग्राम पंचायत कर रही निर्माण, नहीं बचेगा बच्चों को खेलने के लिए मैदान

0 42

रीठी विकास खंड के प्राथमिक शाला करियापाथर में रहे अतिरिक्त कक्ष निर्माण का मामला, जनपद सीईओ से की शिकायत 

संवाददाता बिंजन श्रीवास कटनी/रीठी दर्पण। शासन द्वारा गांवो के विकास के लिए भले ही लाखो रूपये पानी की तरह बहाये जा रहे हो, लेकिन प्रशासनिक तंत्र की बेपरवाही के कारण शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं को मुख्यालय में बैठे जिम्मेदार भ्रष्टाचार का दीमक लगा रहे हैं और शासन के रूपयों में जमकर बंदरबांट कर रहे हैं। 

ऐसा ही एक ताजा मामला जनपद मुख्यालय रीठी का प्रकाश मे आया है। सूत्रों बताया गया कि रीठी विकास खंड शासकीय प्राथमिक शाला करियापाथर में शासन ने अतिरिक्त कक्ष के निर्माण की स्वीकृति दी है। जिसके निर्माण के लिए निर्माण एजेंसी ग्राम पंचायत रीठी को बनाया गया है। बताया गया कि उपयंत्री द्वारा विद्यालय की खाली पड़ी जगह पर निर्माण कार्य के लिए लेग आऊट डाला गया था। लेकिन सोमवार को निर्माण कार्य की शुरुआत करने पहुंचे रीठी ग्राम पंचायत कर्णधार उपयंत्री के द्वारा डाले गए लेग आऊट को दरकिनार कर बच्चों के खेलने के मैदान निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया। जिसकी सूचना विद्यालय प्रबंधन ने  बीआरसी को दी। चूंकि निर्माण कार्य हो जाने से बच्चों को खेलने के लिए मैदान ही नही बच रहा था। इसके बाद विद्यालय प्रबंधन ने ग्राम पंचायत रीठी के द्वारा की जा रही मनमानी व निर्माण कार्य पर रोक लगाये जाने की लिखित शिकायत जनपद सीईओ प्रदीप सिंह से की गई। जिसके बाद बच्चों के खेल मैदान मे हो रहे निर्माण कार्य को रोका गया। 

विद्यालय की जमीन पर कब्जा, प्रशासन मौन

ग्रामीणो ने बताया कि रीठी विकास खंड अंतर्गत संचालित शासकीय प्राथमिक शाला करियापाथर में बाउंड्रीवॉल न होने के कारण चारों तरफ से अतिक्रमण कारियों ने कब्जा कर मकान तान लिए हैं। जिसकी सूचना विद्यालय प्रबंधन द्वारा विभागीय जिम्मेदार अधिकारीयो सहित रीठी तहसीलदार को भी दी गई। लेकिन स्कूल की जमीन से कब्जा हटाने की बात तो भला कोसो दूर जिम्मेदारों ने झांक देखने तक की जहमत नही उठाई। ग्रामीणो का कहना है कि एक ओर रीठी तहसीलदार राजेश पांडे द्वारा अतिक्रमण हटाओ मुहिम के तहत अपना पेट पाल रहे ठेला टपरों को तो हटा दिया गया। लेकिन शिक्षा के मंदिर में हुए अतिक्रमण पर कार्रवाई करने में परहेज किया जा रहा है। लोगो ने आरोप लगाते हुए बताया कि उक्त विद्यालय की भूमि पर हुए अवैध कब्जे की रीठी तहसीलदार की टेबल पर लिखित शिकायतों का पुलिंदा जमा होगा बावजूद इसके प्रशासन चुप्पी साध बैठा है। 

लालची प्रवृत्ति के कारण निर्माण कार्यों में भ्रष्टाचार

गौरतलब है कि रीठी के शिक्षा विभाग में बैठे जिम्मेदार व विभागीय उपयंत्री की लालची प्रवृत्ति विद्यालयों में होने वाले निर्माण कार्यों को भ्रष्टाचार का दीमक लगा रहे हैं। चंद सिक्कों की खनक के आगे विभागीय अधिकारीयों द्वारा सर्व शिक्षा अभियान के भवनों के निर्माण कार्य की निर्माण कार्य एजेंसी ग्राम पंचायत को बना दिया  जाता है और ग्राम पंचायत निर्माण कार्य के नाम पर विभागीय अधिकारियो व खुद की जेबें गर्म कर निर्माण के नाम नमूना खड़ा कर रहे है। लोगो का कहना है कि विकास खंड अंतर्गत जहां भी सर्व शिक्षा अभियान के तहत निर्माण कार्य कराये गये हैं। सभी भवनों की यदि जांच कराई जाए तो भ्रष्टाचार की कलाई खुलकर सामने आ जाएगी। रीठी मुख्यालय के  अधिकारीयों द्वारा उपयंत्रियो की मिलीभगत से जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.