Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने वर्चुअल रैली को किया संबोधित

0 28

जबलपुर। मध्यप्रदेश में एक बार फिर विधानसभा चुनाव की बयार बहने लगी है कुछ ही सीटों पर सही लेकिन चुनाव लड़ने वाली पार्टियां और टिकट के दावेदार अपने पूरे जोश उत्साह और दमखम के साथ चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी कर रहे हैं साथ ही उनके सेनापति और सिपहसालार भी अपनी-अपनी सैनिकों में जोश भरने का कार्य कर रहे हैं। सरकार मंत्रियों के माध्यम से
वर्चुअल रैलियों को संबोधित कर रही है। वहीं विपक्ष भी सरकार पर हमलावर हो रहा है। इसी कड़ी में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने वर्चुअल रैली को संबोधित किया। जिसे शहर में और भाजपा कार्यालय में भी देखा गया। देश की सुरक्षा मजबूत है कि चाइना का मुकाबला हम कितनी सक्षमता से कर रहे हैं, आप सभी देख रहे हैं। हमारे सुरक्षा बल रोजाना आतंकवादियों को मार रहे हैं। जिस धारा 370 को हटाने के लिए डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने बलिदान दिया, नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में सरकार बनने के बाद हमने जनसंघ की विचारधारा के अनुरूप धारा 370 को हटाकर इतिहास रच दिया। यह प्रावधान अस्थायी था, सब ये मानते थे कि इसे हटना चाहिए, लेकिन कांग्रेस की सरकारों ने वोटबैंक की राजनीति के चलते देश के हितों से समझौता किया। अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए कई रामभक्तों ने बलिदान दिया। सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय दिया और अब राम मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है। हमने जो जो कहा था, जो संकल्प लिये थे, जनता से जो-जो वादे किए थे, वो नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व वाली सरकार ने अपने कार्यकाल में करके दिखा दिया। अब हमें देश को आगे ले जाना है, सुखी, समृद्ध और आत्मनिर्भर भारत बनाना है। यह बात केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार को वर्चुअल रैली के माध्यम से प्रदेश के लाखों कार्यकर्ताओं, प्रबुद्धजनों और आम नागरिकों को संबोधित करते हुए कही। केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी ने बुधवार को प्रदेश की पहली वर्चुअल रैली को संबोधित किया। इस रैली से प्रदेश के 50 हजार से अधिक बूथों पर फेसबुक, यूट्यूब के माध्यम से 10 लाख से अधिक कार्यकर्ता, प्रबुद्धजन और नागरिक जुड़े। मुख्य वक्ता के रूप में केन्द्रीय मंत्री श्री नितिन गड़करी नागपुर से जुड़े। उनके साथ केन्द्रीय मंत्री श्री प्रहलाद पटेल एवं पार्टी के प्रदेश कोषाध्यक्ष श्री हेमंत खण्डेलवाल उपस्थित थे। दिल्ली से केन्द्रीय मंत्री श्री नरेन्द्रसिंह तोमर, श्री थावरचन्द गेहलोत, श्री फग्गनसिंह कुलस्ते, प्रदेश संगठन प्रभारी एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे, वरिष्ठ नेता श्री सत्यनारायण जटिया जुड़े। वहीं भोपाल से मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णुदत्त शर्मा ने संबोधित किया। पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व सांसद श्री प्रभात झा, राष्ट्रीय महामंत्री श्री कैलाश विजयवर्गीय मंचासीन थे।

जबलपुर मे जनप्रतिनिधियों, पदाधिकारियो एवं कार्यकर्ताओ ने सुना लाइव

इस अवसर पर जबलपुर संभागीय कार्यालय मे पूर्व प्रदेश अध्यक्ष साँसद राकेश सिंह, नगर अध्यक्ष जीएस ठाकुर, प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद गोंटिया, विधायक अशोक रोहाणी, पूर्व महापौर डॉ स्वाति गोडबोले, प्रभात साहू, सदानन्द गोडबोले, एसके मुद्दीन, दीपांकर बैनर्जी, जितेंद्र जामदार ने सामूहिक रूप से गडकरी जी को सुना, साथ ही सभी कार्यकर्ताओ ने अपने अपने घरो मे लिंक के माध्यम से जनसंवाद रैली को सुना।

रैली में भोपाल से प्रदेश महामंत्री श्री बंशीलाल गुर्जर ने आत्मनिर्भर भारत का संकल्प दिलाया।

कांग्रेस ने जो 55 सालों में नहीं किया, मोदी जी ने 5 सालों में कर दिया

केंद्रीय मंत्री श्री गडकरी ने कहा कि आजादी के बाद सबसे बड़ी चिंता यह थी कि देश में सुशासन कैसे आएगा, देश आधुनिक कैसे बनेगा, एक महाशक्ति कैसे बनेगा? इसके लिए कांग्रेस के पास बड़ा अवसर था। देश की जनता ने आजादी के बाद 70 सालों तक कांग्रेस पर विश्वास किया। कांग्रेस ने गरीबी हटाओ का नारा दिया, नेहरू जी से लेकर मनमोहनसिंह जी तक ने अनेक वादे किए। कई घोषणाएं की गईं, कई कार्यक्रम शुरू किए गए, लेकिन देश की स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया। देश में पहली बार जब भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी, तो प्रधानमंत्री वाजपेयी जी ने देश के विकास को दिशा दी। देश को सुखी और समृद्ध बनाने की नीति बनाई। उनके काफी समय बाद नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में फिर भाजपा को बहुमत मिला और सरकार बनी। बीते सालों में इस सरकार ने जो काम किया है, अगर उसे तुलनात्मक रूप से देखा जाये, तो मैं ये मानता हूं कि कांग्रेस ने जो काम 55 सालों में नहीं किया था, वो काम मोदी जी के नेतृत्व वाली सरकार ने पांच सालों में करके दिखा दिया है।

अंत्योदय के लिये काम कर रही मोदी सरकार

देश के विकास में किया तकनीकी का उपयोग

श्री गडकरी ने कहा कि विकास की अगर बात करें, तो शब्द ध्यान में आते हैं- मॉडर्नाइजेशन और वेस्टर्नाइजेशन। हमारी सरकार ने मॉडर्नाइजेशन को चुना। हमने साइंस और टेक्नोलॉजी को चुना। सुशासन और विकास के लिए टेक्नोलॉजी की आवश्यकता है और देश ऐसी टेक्नोलॉजी का उपयोग कर रहा है, जिसके बारे में कुछ साल पहले सोचा भी नहीं जा सकता था। अब दिल्ली से एक साथ सब के खाते में पैसे डाल दिये जाते हैं। ड्राइविंग लायसेंस साथ में लेकर चलने की जरूरत नहीं हैं,  बोगस लायसेंस अब बंद हो गए हैं। दिल्ली में बैठकर ही किसी भी योजना की मॉनीटरिंग की जा सकती है। श्री गडकरी ने कहा कि टेक्नोलॉजी को साकार करने का, उसे जमीन पर उतारने का काम अगर देश में किसी ने किया है, तो वो नरेंद्र मोदी जी की सरकार ने किया है।

इन्फ्रास्ट्रक्चर का अभूतपूर्व विकास

श्री गडकरी ने कहा कि हमारी सरकार देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए एक-एक चीज की योजना बनाई है। हमारे गांव कैसे होना चाहिए, सड़कें कैसी होना चाहिए, रेलमार्ग कैसे होना चाहिए, जलमार्ग, हवाई यातायात, पोर्ट और एयरपोर्ट कैसे होना चाहिए इन सब पर विचार किया है। हमारे नेता स्व. अटलजी ने नदियों को जोड़ने की बात कही थी, हमने उसके लिए भी योजना बनाई। हमारी सरकार मानती है कि अगर सिंचाई के लिए पानी होगा, तो गांवों का विकास होगा। इसलिए हम जल संवर्धन की योजनाओं पर काम कर रहे हैं। देश के बंटवारे के बाद हमारे हिस्से में जो तीन नदियां आई थीं, उनका पानी भी बेकार बहकर पाकिस्तान जा रहा था और सरकार निर्णय नहीं ले पा रही थी। मोदी जी की सरकार बनने तक ऐसे 9 प्रोजेक्ट सालों से लटके हुए थे। हमारी सरकार ने इनमें से 7 प्रोजेक्ट पूरे कर दिये। जल्द ही इन तीनों नदियों का पानी हमारे राजस्थान, हरियाणा और पंजाब को मिलने लगेगा। उन्होंने कहा कि अब देश में मेट्रो ट्रेन और बुलेट ट्रेनों की बात हो रही है। दिल्ली से मुंबई तक 12 लेन वाला एक लाख करोड़ का एक्सप्रेस वे बन रहा है, जो पिछड़े क्षेत्रों के विकास का महामार्ग साबित होगा। हमने मानसरोवर तक रोड बना ली है। हमने चारों धाम को सड़क मार्ग से जोड़ने का काम किया है और अब लोग किसी भी मौसम में चारों धाम की यात्रा कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल में ऐसे-ऐसे काम किए हैं, जिनके बारे में कल्पना भी नहीं की जासकती थी। श्री गडकरी ने कहा कि मध्यप्रदेश में चंबल एक्सप्रेस वे के बारे में श्री नरेंद्रसिंह तोमर और श्री शिवराजसिंह चौहान ने कई बार चर्चा की है, मैं उन्हें आश्वस्त करना चाहता हूं कि सरकार तीन महीनों में भूमि अधिग्रहण का काम कर ले, हम एक्सप्रेस वे का काम शुरू कर देंगे।

हमें हिम्मत से लड़ना है

श्री गडकरी ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण सारी दुनिया संकट में है। लेकिन इससे डरने से काम नहीं चलेगा। हमें पूरे आत्मविश्वास के साथ कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीतना है। उन्होंने कहा कि वेक्सीन आ जाने के बाद कोरोना संकट समाप्त हो जाएगा, लेकिन तब तक हमें हिम्मत से लड़ना है। उन्होंने कहा कि इस संकट के समय में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह जी ने जिस संवेदनशीलता के साथ विभिन्न प्रांतों के मजदूरों को भोजन कराया, उन्हें घरों तक पहुंचाया, इसके लिए मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं।
Leave A Reply

Your email address will not be published.