Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

कोरोना संकटकाल में ग्रामीण भारत को सशक्त कर रही मनरेगा:पट्टा

0 15

श्रमिक दिवस पर मजदूरों के बीच पहुंचे बिछिया विधायक

मण्डला। कोरोना संक्रमण से उपजी महामारी ने आम जनजीवन को पूरी तरह से प्रभावित कर दिया है। देश की अर्थव्यवस्था का पहिया थम गया है ऐसे में सबसे बड़ी चुनौती ग्रामीण क्षेत्र में नागरिकजनों को आर्थिक मदद करने और उन्हें सशक्त करने की है। आज जब सरकार को अपनी योजनाओं के माध्यम से ग्रामीणों तक मदद पहुंचाने के लिए एक माध्यम की आवश्यकता थी तब कांग्रेस सरकार के शासनकाल में लागू की गई श्रमिक आधारित मनरेगा योजना ने अपनी सार्थकता को सिद्ध किया है। ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए भाजपा नीत वर्तमान केंद्र सरकार को आज कांग्रेस सरकार के समय लागू की गई मनरेगा योजना का ही सहारा लेना पड़ा। पिछले 6 साल में मनरेगा को बंद करने के लिए अनेक कोशिशें की गई लेकिन इस योजना का विस्तार और प्रभाव इतना अधिक होने के कारण इसे पूरे तरीके से बंद कर पाना वर्तमान केंद्र सरकार के लिए मुमकिन नही हो पाया और आज देखिए जब ग्रामीण भारत की अर्थव्यवस्था को शुरू करने की बारी आई तो केंद्र व राज्य सरकारों को मनरेगा योजना से ही रोजगार की शुरुआत करनी पड़ी और इस संकटकाल में मनरेगा योजना उम्मीद की एक किरण बनकर श्रमिकों को रोजगार देने का काम कर रही है। यह कहना है बिछिया विधानसभा के विधायक नारायण सिंह पट्टा का जो शुक्रवार 1 मई को विश्व श्रमिक दिवस के अवसर पर अपने विधानसभा क्षेत्र के ग्रामों में पहुंचे और मनरेगा योजना के तहत काम कर रहे मजदूरों से मिलकर उनका हाल चाल जाना। अंजनिया के समीपस्थ ग्राम मांद में चर्चा के दौरान मनरेगा में कार्यरत मजदूरों ने बताया कि उनके पास जीने खाने की सारी व्यवस्थाएं खत्म होती जा रही थी और कहीं भी कोई काम न होने की वजह से आने वाले दिनों में परिवार चलाने के लिए भी कोई रास्ता नही दिख रहा था लेकिन ग्राम पंचायत के द्वारा के मनरेगा योजना के माध्यम से शुरू किए गए कार्य में हमें काम मिल गया है और हम अब निश्चिंत हैं कि आने वाले दिनों में हमारे सामने जीने खाने का संकट नही रहेगा। इस दौरान विधायक श्री पट्टा ने मजदूरों के साथ श्रमदान भी किया, खंती खोदने के लिए उन्होंने भी एक मजदूर की वेशभूषा में काफी समय तक मजदूरों के साथ काम किया। विधायक श्री पट्टा का कहना है कि केंद्र की सरकार को अर्थव्यवस्था मजबूत करने के लिए ग्रामीण भारत को सशक्त करना होगा, मनरेगा जैसी योजनाएं बनाकर गांव में आर्थिक सशक्तिकरण लाना होगा। विश्व के बड़े बड़े अर्थशास्त्रियों ने भी कहा है कि ग्रामीण क्षेत्रों में मजदूरों को सशक्त करने की शुरुआत करनी चाहिए क्योंकि ग्रामीण अर्थव्यवस्था ही हमारे देश की रीढ़ है। इस दौरान विधायक श्री पट्टा के साथ समीर झा, कवींद्र पटेल, अजय अज्जू ठाकुर सहित अन्य कार्यकर्ता व श्रमिक ग्रामीणजन मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.