Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

जंगल में हुई अंधी हत्या का खुलासा

0 80

खितौला चोपड़ा धाम केजंगल में हुई अंधी हत्या का खुलासा,  1 आरोपी गिरफ्तार, फरार 1 साथी की तलाश

जबलपुर। थाना खितौला में दिनाॅक 14-5-2020 को चौपड़ा धाम के जंगल मे गुमशुदा का शव मिलने की सूचना पर पहुंची पुलिस को रामगोपाल यादव उम्र 60 वर्ष निवासी सिमरापटी बहोरीबंद कटनी ने बताया था कि उसका बडा भाई भैयालाल यादव उम्र 85 वर्ष 35 साल पहले साधू बन गये थे जो पिछले 20 वर्ष से खितौला स्थित चैपड़ा धाम में रहतें थे जिनसे उसकी मोबाईल पर बात होती थी। दिनाॅक 30-4-2020 को आखरी बार भाई भैयालाल यादव से उसकी बात हुई थी। दिनाॅक 12-5-2020 को चौपड़ा धाम से जुड़े सेवक मुन्ना चौधरी  मडई वाले ने फोन कर बताया कि तुम्हारे भाई भैयालाल का फोन बंद आ रहा है, एवं भैयालाल कुछ दिनों से आश्रम में भी नहीं दिख रहे है। दिनाॅक 13-5-2020 को अपने परिजनों के साथ मडई पहुंचा, आसपास तलाश कर थाने में सूचना देते हुये गुमंइसान दर्ज कराते हुये गाॅव के लोगों एवं परिजनो के साथ चैपड़ा धाम के जंगल मे तलाश की, चोपड़ा धाम मंदिर के उत्तर पहाड़ी तरफ नाली में भाई भैयालाल के गले में पहनने वाली कंठीमाला एवं सिर के निकले हुये बाल पडे दिखे कुछ ही दूरी पर नाली में खुदी हुई ताजी मुरूम मिट्टी पड़ी दिखी, तथा मिट्टी से कुछ दूरी पर आश्रम की नायलाॅन की रस्सी पडी दिखी थी।
दिनाॅक 14-5-2020 को नाली मे पड़ी मुरूम को अलग करने पर देखा कि भाई भैयालाल यादव का शव मुरूम के नीचे दबा हुआ पड़ा था, कपडे व पैर के पंजे से उसने पहचान किया कि शव उसके भाई भैया लाल का है। पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये मर्ग कायम कर जांच मे लिया गया।

               घटना स्थल निरीक्षण शव पंचनामा, पर किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा भैयालाल यादव की हत्या कर शव को पहाड़ी  मे बनी नाली में गड्ढा खोद कर शव छिपाने के उद्देश्य से मिट्टी में दबा दिया जाना पाया जाने पर  अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 302,201 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया।    
                      पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से) द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये आरोपी की शीघ्र पतासाजी कर अविलम्ब गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध डाॅ. रायसिंह नरवरिया, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) श्री शिवेश सिंह बघेल, के  मार्गदर्शन पर एस.डी.ओ.पी. सिहोरा श्रीमति भावना मरावी द्वारा थाना प्रभारी खितौला श्री गोपाल सिंह जगेत के नेतृत्व में थाना खितौला एवं क्राईम ब्रांच की टीम को लगाया गया।
                   गठित टीम के द्वारा घटना स्थल के आस-पास लगातार पतासाजी की गयी, जिस पर ज्ञात हुआ कि एक वर्ष पूर्व चोपड़ा धाम में अन्नूसिंह द्वारा चोरी की घटना को अंजाम दिया गया था जिसे पकडे जाने पर चौपड़ा धाम से जुडे लोगो द्वारा डाट-फटकार कर भगाया गया था , तब से अन्नू सिंह रंजिश रखता था, तथा अन्नूसिंह की शोहरत जंगल में रहकर आस-पास के गांव में छोटी-छोटी चोरी करने की है।
          गठित टीम द्वारा अन्नूसिंह निवासी ग्राम घुघरा थाना खितौला को सरगर्मी से तलाश की गयी जो ग्राम कुर्रे के ईट भट्टा के पास लुकता-छिपता मिला, जिसे घेराबंदी कर पकडा गया।
                 अन्नूसिंह से घटना के संबंध में सघन पूछतांछ की गई जिसने बताया कि मृतक भैयालाल जब जंगल की तरफ जा रहा था उसी दौरान रास्ते में अपने साथी राजेश गोंड निवासी लमकना (मझगवां) थाना सिहोरा के साथ  भैयालाल से पैसो की मांग की, जब भैयालाल नेे पैसे देने से मना किया तो दोनो ने बका से  भैयालाल के पेट एवं गले में हमला कर नाली में धक्का दे दिया और उसी नाली में दोनो ने मिलकर कुदारी से गड्ढा खोदा तथा भैयालाल के शव को खींचकर गड्ढे में धकेलकर ऊपर से मिट्टी और पत्ते डाल कर शव को छिपा दिया इसके बाद दोनो भैयालाल के थैले में रखे नगदी पांच हजार रूपये और भगवान विष्णु की मूर्ति लेकर भाग गये।
              आरोपी अन्नूसिंह की निशादेही पर घटना में प्रयुक्त बका, विष्णु जी की मूर्ति आदि जप्त करते हुये अन्नू सिंह की प्रकरण में गिरफ्तारी की गई है, साथी आरोपी राजेश गौेंड फरार है जिसकी तलाश की जा रही है।

उल्लेखनीय भूमिका – उपरोक्त अंधी हत्या का खुलासा करने में थाना प्रभारी खितौला गोपाल सिंह जगेत, उप निरीक्षक जे.पी.द्विवेदी, स.उ.नि. के.पी. दुबे, आरक्षक नीरज चैरसिया, आरक्षक अमित रैकवार, आरक्षक मेराजुद्दीन खान,  सैनिक  धनीराम पटैल, क्राईम ब्रांच स.उ.नि. रामसनेही शर्मा, आरक्षक राजेश केवट, अनिल शर्मा, अजीत पटैल, विजियन, अनंत तिवारी की उल्लेखनीय भूमिका रही  ।  पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) ने टीम को नगद पुरुस्कार से पुरूस्कृत करने की घोषणा की है ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.