Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.
Daily Archives

3rd September 2022

गणेश उत्सव में होती है महालक्ष्मी की विशेष आराधना

जबलपुर दर्पण। मराठा साम्राज्य के अधिपत्य के बाद जबलपुर संस्कारधानी में मराठी भाषी आकर यहीं पर बस गए मराठी तीज त्यौहार भी धूम धाम शुरू हो गई। महाराष्ट्र का प्रमुख गणेशोत्सव के साथ महालक्ष्मी की तीन

सामुहिक राम चरित मानस के मास पारायण का होगा समापन

जबलपुर दर्पण। परम पूज्य गुरुदेव ब्रम्हर्षि विश्वात्मा बावरा जी महाराज के आशीर्वाद एवं दीदी ज्ञानेश्वरी के सानिध्य में श्री राम मंदिर मदन महल में रविवार को शाम 3 बजे से सामुहिक राम चरित मानस के अंतिम

गणेश उत्सव समिति का अनूठा आयोजननि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर लगाकर की पीडि़त मानवता की सेवा

जबलपुर दर्पण। पीडि़त मानवता की सेवा के लिए गणेश उत्सव समिति ने सामाजिक सरोकार व हर वर्ग को स्वास्थ्य लाभ प्रदान करवाने के उद्देश्य से भगवान श्री गणेश जी के पंडाल में नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर आयोजित

ट्राफिक पुलिस के जवान ने युवक को त्वरित पहुंचाया अस्पताल

डिंडोरी, जबलपुर दर्पण ब्यूरो। पिछले दिनों जिला मुख्यालय में हुए सड़क हादसे के बाद घायल बाइक सवार युवक को ट्राफिक पुलिस ने त्वरित मदद पहुंचाते हुए जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। बताया गया

बैगा बाहुल्य क्षेत्र में भ्रष्टाचार करके बनाया गया रसोईघर हुआ धराशाई

डिंडोरी, जबलपुर दर्पण ब्यूरो। बैगा बाहुल्य क्षेत्र में भ्रष्टाचार करके बनाया गया रसोईघर अब धराशाई हो गया है, गनीमत रही कि घटना में कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ, नहीं तो परिस्थितियां कुछ और होती।

सोशल मीडिया में भ्रष्टाचार संबंधी तथ्य असत्य और निराधार

डिंडौरी, जबलपुर दर्पण न्यूज। जिले के ग्राम गिधलौड़ी ग्राम पंचायत केवलारदर जनपद पंचायत मेंहदवानी में 32 लाख 63 हजार की लागत से अमृत सरोवर अभियान के तहत चैकडेम का निर्माण कार्य गुणवत्तापूर्वक किया

ठेका कर्मचारियों को नियमित करने सौपा ज्ञापन

जबलपुर दर्पण। मध्य प्रदेश लघु वेतन कर्मचारी संघ विभागीय समिति नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज जबलपुर के विभागीय अध्यक्ष प्रमोद कुमार ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया है कि कि आज मध्य प्रदेश लघु

सत्य से बढ़कर धर्म नहीं

आलेख : आशीष जैन (उप संपादक) दैनिक जबलपुर दर्पण नहीं सताऊं किसी जीव को, झूठ कभी ना कहा करू। पर धन वनिता पर लुभाउँ, संतोषमृत पिया करूँ। अहंकार का भाव रक्खूँ, नहीं किसी पर क्रोध करूँ। देख दूसरों