Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

बेटे के निधन का सदमा बर्दाश्त नहीं कर सका पिता

0 42

रीठी थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत बड़गांव में दिल दहला देने वाली घटना से सहमें लोग

संवाददाता बिंजन श्रीवास, कटनी/रीठी दर्पण।

कटनी जिले की रीठी तहसील मुख्यालय अंतर्गत ग्राम पंचायत बड़गांव में एकलौते बेटे की मौत का सदमा वृद्ध पिता झेल नहीं पाया। बताया गया कि पुत्र का अंतिम संस्कार करके लौटे पिता ने भी दम तोड़ दिया। बड़गांव में हुई इस दर्दनाक घटना से सभी लोग सहमें हुए है। परिवार पर जैसे दुखों का पहाड़ सा टूट पड़ा हो।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक रीठी जनपद की ग्राम पंचायत बड़गांव निवासी नरेश कुमार जैन (टप्पू भैया) के निधन के बाद उनके अंतिम संस्कार से वापस लौटे उनके वृद्ध पिता श्रीचंद जैन का भी दुखद निधन हो गया।रविवार का दिन जैसे जैन परिवार के लिए काल भरा दिन रहा हो शोकाकुल परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। 
बताया गया कि बड़गांव निवासी नरेश कुमार जैन को सांस लेने में तकलीफ होने पर विगत 7 अप्रेल को इलाज के लिए परिजन कटनी ले गए थे जहां से डाक्टरों ने उन्हें जबलपुर रैफर कर दिया था। जबलपुर में इलाज के दौरान 11 अप्रेल को नरेश जैन की मौत हो गई। परिजन एम्बुलेंस से पार्थिव शरीर को लेकर सीधे मुक्तिधाम लेकर पहुंचे जहां कोविड-19 की गाइडलाइंस का पालन करते हुए अंतिम संस्कार किया गया। इकलौते बेटे के निधन की खबर को सुनकर वृद्ध पिता की अचानक तबीयत खराब हो गई। अंतिम संस्कार के बाद वापस लौटे उनके वृद्ध पिता श्रीचंद जैन ने भी दम तोड़ दिया। परिजनो ने वृद्ध पिता का भी कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए स्थानीय मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार किया। बड़गांव निवासी जैन परिवार पर आई इस आपदा की जानकारी जिसे भी लगी सभी को सहम गए।
 बताया गया कि नरेश जैन के पुत्र नितिन जैन इलाज के लिए पापा को कटनी लेकर गए थे जहां से डाक्टरों ने उन्हें जबलपुर रैफर किया था । नितिन जैन ने पिता को मुखाग्नि दी थी, नितिन के दादा व नरेश जैन के पिता श्रीचंद जैन को मुक्तिधाम लेकर गए थे ताकि वे अपने बेटे नरेश को  अंतिम बार देख सकें। उसके बाद जब वापस लौटे तो नितिन के दादा मृतक नरेश जैन के पिता श्रीचंद ने भी दम तोड़ दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.