Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

संत रामपाल महाराज द्वारा समाज सुधार हेतु रचित पुस्तकों का हुआ वितरण

0 45

जबलपुर दर्पण। पुस्तक स्वयं कहीं नहीं जाती किंतु पढ़ने वाले को सही दिशा में आगे बढ़ाती हैं। ऐसा ही एक सराहनीय कार्य आज जबलपुर में हुआ, भेड़ाघाट, तिलवारा और ग्वारीघाट में आध्यात्मिक पुस्तकें वितरित की गईं। संत रामपाल जी का नाम विश्व के सबसे बड़े समाज सुधारक संत के रूप में जाना जाता है। आज मकर संक्रांति त्यौहार के दिन अधिक से अधिक लोगों से संपर्क कर आध्यात्मिक पुस्तकों के वितरण हेतु संत के अनुयायियों द्वारा घाटों पर आने वाले श्रद्धालुओं तक ये सेवा पहुंचाई गई। ये पुस्तकें नशामुक्ति, दहेजमुक्ति जैसे विषयों पर केंद्रित है। संत रामपाल महाराज ने देश को नशामुक्त बनाने हेतु अनेक कदम उठाए हैं। इन पुस्तकों के माध्यम से सभी को यह संदेश दिया गया है कि नशा करने से स्वास्थ्य और धन के अतिरिक्त कौन कौन सी हानियां हैं जो मनुष्य को जीते जी और मरणोपरांत नरक में धकेलती हैं। समाज में अनेक प्रकार की कुरीतियां, अंधविश्वास और धर्म को लेकर भ्रामक धारणाएं फैली हुई हैं। उनका भी ये पुस्तकें खंडन करती हैं। इन पुस्तकों के माध्यम से समाज को एक नई दिशा देने का कार्य संत रामपाल महाराज ने किया है जो समाज पर बहुत बड़ा उपकार है। इन पुस्तकों का मूल्य मात्र 10 रुपए है तो जाहिर है कि मुनाफे के उद्देश्य से ये वितरण नहीं हुआ है। इसके अतिरिक्त यदि कोई घर बैठे पुस्तक निशुल्क ऑर्डर करना चाहे तो 7496801825 पर मैसेज करके ऑर्डर कर सकता है। कोई भी व्यक्ति प्ले स्टोर से संत रामपाल जी महाराज एप्प डाउनलोड करके इन्हें निशुल्क पढ़ सकता है। निश्चित रूप से यह प्रयास समाज के लिए अनुकरणीय एवं सराहनीय हैं। इन पुस्तकों के माध्यम से आने वाली पीढ़ियां अपने आधुनिक जीवन के साथ ही धर्म और अध्यात्म के साथ सामंजस्य बिठा सकेंगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.