Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.
Browsing Category

संपादकीय/लेख/आलेख

बड़े लक्ष्य की प्राप्ति के लिए आपका त्याग भी बड़ा होना चाहिए

आलेख : आशीष जैन (उप संपादक) दैनिक जबलपुर दर्पण। मो. 9424322600 दान चार परकार, चार संघ को दीजिये। धन बिजुली उनहार, नर-भव लाहो लीजिये। उत्तम त्याग कह्यो जग सारा, औषध शाष्त्र अभय सहारा। निहचे राग

इंद्रियों को वश में करना सबसे बड़ा तप है

आलेख : आशीष जैन (उप संपादक) दैनिक जबलपुर दर्पण समाचार पत्र दसलक्षण महापर्व के सातवे दिन एकादशी को दिगंबर जैन समाज उत्तम तप धर्म का पालन करते है। तप का मतलब सिर्फ उपवास भोजन नहीं करना नहीं है

उत्तम संयम धर्म हमें सिखाता है आत्म नियंत्रण

आलेख : आशीष जैन (उप-संपादक) दैनिक जबलपुर दर्पण समाचार पत्र दशलक्षण पर्यूषण महापर्व के शुभ अवसर पर दिगंबर जैन समाज के नागरिक छटवें दिन धूप दशमी के दिन उत्तम संयम धर्म का पालन करते है। मंदिर में

सत्य से बढ़कर धर्म नहीं

आलेख : आशीष जैन (उप संपादक) दैनिक जबलपुर दर्पण नहीं सताऊं किसी जीव को, झूठ कभी ना कहा करू। पर धन वनिता पर लुभाउँ, संतोषमृत पिया करूँ। अहंकार का भाव रक्खूँ, नहीं किसी पर क्रोध करूँ। देख दूसरों

जितना मिला है उसी में खूश रहो यही है उत्तम शौच धर्म

आलेख : आशीष जैन (उप संपादक) दैनिक जबलपुर दर्पण धरि हिरदै संतोष, करहु तपस्या देह सों। शौच सदा निरदोष, धरम बड़ो संसार में। उत्तम शौच सर्व-जग जाना, लोभ ‘पाप को बाप’ बखाना। आशा-पास महादु:खदानी,

उत्तम आर्जव धर्म, कपट को त्याग कर सरल स्वभाव के साथ मोक्ष प्राप्ति है संभव

आलेख : आशीष जैन (उप संपादक) दैनिक जबलपुर दर्पण भादो माह के सुद सप्तमी को दिगंबर जैन समाज के पवाॅधिराज पर्यूषण दसलक्षण पर्व का तीसरा दिन उत्तम आर्जव धर्म कहा जाता है। हम सब को सरल स्वभाव रखना

पर्यूषण पर्व का उत्तम क्षमा एवं मार्दव धर्म

आलेख : आशीष जैन (उप संपादक) दैनिक जबलपुर दर्पण संपूर्ण जैन समाज के लिए दसलक्षण पर्व का विशेष महत्व है। सर्वसामान्य पर्यूषण पर्व के नाम से जानता है। भादो मास की चतुर्दशी से प्रारंभ होने वाला दस

दस लक्षण के धर्मों को धारण करने का पर्व है पर्यूषण

आलेख: आशीष जैन (उप संपादक) दैनिक जबलपुर दर्पण पर्यूषण पर्व जैन समाज का आतिमहत्वपूर्ण एवं महापर्व पर्व है। जैन धर्म धर्मावलंबी भाद्रपद मास में पर्यूषण पर्व मनाते हैं। श्वेताम्बर संप्रदाय के

दुखित करती है, यह तस्वीरें

आलेख : आशीष जैन (उप-संपादक) दैनिक जबलपुर दर्पण। एक तस्वीर सोशल मीडिया में बहुत बायरल हो रही है। कचरे की गाड़ी और डस्टबिन में बहुत सारी तिरंगे झंडे एवं उनके प्रतिरूप कचड़े के बीच में रखे डले

प्रतिबंध के बावजूद हो रहा सिंगल यूज्ड प्लास्टिक का क्रय, विक्रय, भंडारण एवं परिवहन

आलेख : आशीष जैन (उप संपादक) दैनिक जबलपुर दर्पण वर्तमान समय में प्लास्टिक का दैनिक जीवन में सबसे ज्यादा उपयोग हो रहा है। प्लास्टिक की वस्तुओं में सिंगल यूज प्लास्टिक अत्यधिक खतरनाक एवं